Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 8, 2021 · 1 min read

पानी न बरसने की पीड़ा

वर्षा की राह जोहते लोग
बेमन से तीज त्योहार मना रहे हैं
पिछली अवर्षा से प्रभावित गाँव-शहर
आज अभी तक
पानी नहीं, पसीने से नहा रहे है ।

कलमुँहे बादल आते हैं
बतीसी दिखाते हैं
घोड़े जैसे हिनहिनाकर
इस बार भी
निकल जाते हैं ।

गिनती के बचे युवा वृक्ष
दुखी मन से खड़े हैं
अषाढ़ आने ‌को है
ज्येष्ठ जाने को है
अब तक झूले नहीं पड़े हैं ।

गृहणियां परदेस रहते
पतियों को लिखा रही हैं
सावन की वर्षा हमारे लिए
लाखों की बात छोड़ो
कौड़ियों का भी नहीं रही है ।

और हाँ यह भी लिखा है
यदि सावन हो वहाँ सलौना
जादूगर बाहुल्य क्षेत्र है
अपने घर जाना
किसी जादू-टोने के वश न हो जाना ।

2 Likes · 4 Comments · 196 Views
You may also like:
😊तेरी मिरी चिड़ी पीड़ि😊
DR ARUN KUMAR SHASTRI
तेरी खैर मांगता हूं।
Taj Mohammad
नई तकदीर
मनोज कर्ण
✍️क़हर✍️
'अशांत' शेखर
"कर्मफल
Vikas Sharma'Shivaaya'
गजल क्या लिखूँ कोई तराना नहीं है
VINOD KUMAR CHAUHAN
तेरे बिन
Harshvardhan "आवारा"
अक्षय तृतीया
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
माँ (खड़ी हूँ मैं बुलंदी पर मगर आधार तुम हो...
Dr Archana Gupta
पिता
Saraswati Bajpai
कोई रोक नही सकता
Anamika Singh
अविरल
DR ARUN KUMAR SHASTRI
सिया
सिद्धार्थ गोरखपुरी
तुमसे अगर प्यार अगर सच्चा न होता
gurudeenverma198
तेरा ज़िक्र।
Taj Mohammad
✍️🌺प्रेम की राह पर-46🌺✍️
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
हाइकु_रिश्ते
Manu Vashistha
राहों के कांटे हटाते ही रहें।
सत्य कुमार प्रेमी
कभी ज़मीन कभी आसमान.....
अश्क चिरैयाकोटी
सोचता रहता है वह
gurudeenverma198
पिता
नवीन जोशी 'नवल'
“मोह मोह”…….”ॐॐ”….
Piyush Goel
कोई रिश्ता मुझे
Dr fauzia Naseem shad
आईना हम कहाँ
Dr fauzia Naseem shad
नीड़ फिर सजाना है
Saraswati Bajpai
💐💐शरणागतस्य सर्वाणि कार्याणि परमात्मना भवन्ति💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
सपनों का महल
मनमोहन लाल गुप्ता अंजुम
✍️सिर्फ मजार रहेगी✍️
'अशांत' शेखर
निराला जी की मजदूरन
rkchaudhary2012
उड़ जाएगा एक दिन पंछी, धुआं धुआं हो जाएगा
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
Loading...