Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

पशु पक्षी आजाद मगर इन्सान बंद हैं,

सभी सम्मानित कविवृंद को नमन।
आज की गोष्ठी में प्रस्तुत हैं चार चार पंक्तियों की चंद चतुष्पदियां।

1.
कोरोना के चलते पूरा देश बंद है।
घर, दफ्तर, बाजार पूर्ण परिवेश बंद है।।
रैली, रेले, मेले, टेले, हाट, सिनेमा,
आलू, टिक्की, चाट,बंद, संदेश बंद है।

2.
घर से बाहर आवाजाही पूर्ण बंद है
दफ्तर और बजार बंद हैं, रेल बंद है।
कुदरत ने भी देखो कैसा खेल रचाया।
पशु पक्षी आजाद मगर इन्सान बंद है।

3.
मंदिर मस्जिद गुरुद्वारे अरु चर्च बंद हैं।
ट्रीट, पार्टी और मॉल का खर्च बंद है।
रबड़ी, कुल्फी, फालूदा के इस मौसम में,
काढ़ा चालू है पर फ्रिज की बर्फ बंद है।।

4.
यहाँ दवाई और, प्राण की वायु बंद है।
इनके चलते हर पीड़ित की श्वास बंद है।
ईश्वर ने तो साधन सारे दे रक्खे हैं।
किन्तु जहन में इन्सानों के भरी गंद है।

5.
मानव के कष्टों का प्रभु अब अंत करो।
त्राहि त्राहि हर ओर मची है मंद करो।
करुणासागर हो करुणा का घट खोलो।
मरघट की इन ज्वालाओं को बंद करो।

श्रीकृष्ण शुक्ल, मुरादाबाद।

1 Like · 2 Comments · 162 Views
You may also like:
✍️क्या ये विकास है ?✍️
'अशांत' शेखर
ईद अल अजहा
Awadhesh Saxena
तड़फ
Harshvardhan "आवारा"
काश उसने तुझे चिड़ियों जैसा पाला होता।
Manisha Manjari
कहानी *"ममता"* पार्ट-5 लेखक: राधाकिसन मूंधड़ा, सूरत।
radhakishan Mundhra
अहसान मानता हूं।
Taj Mohammad
इस तरह
Dr fauzia Naseem shad
अश्रुपात्र... A glass of tears भाग - 4
Dr. Meenakshi Sharma
ग़ज़ल & दिल की किताब में -राना लिधौरी
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
काश अपना भी कोई चाहने वाला होता।
Taj Mohammad
इन ख़यालों के परिंदों को चुगाने कब से
Anis Shah
ऐ मातृभूमि ! तुम्हें शत-शत नमन
Anamika Singh
चल रहा वो
Kavita Chouhan
ईश्वर का खेल
Anamika Singh
" सहज कविता "
DrLakshman Jha Parimal
जीवन की तलाश
Taran Singh Verma
सूरज का ताप
सतीश मिश्र "अचूक"
दर बदर।
Taj Mohammad
जिन्दगी तेरा फलसफा।
Taj Mohammad
बदला
शिव प्रताप लोधी
श्रम पिता का समाया
शेख़ जाफ़र खान
बंकिम चन्द्र प्रणाम
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
मेरे हर सिम्त जो ग़म....
अश्क चिरैयाकोटी
अक्सर सोचतीं हुँ.........
Palak Shreya
जंगल में कवि सम्मेलन
मनोज कर्ण
✍️प्रेम खेळ नाही बाहुल्यांचा✍️
'अशांत' शेखर
जो देखें उसमें
Dr.sima
लिपट कर तिरंगे में आऊं
AADYA PRODUCTION
जिंदगी या मौत? आपको क्या चाहिए?
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
प्रयोजन
Shiva Awasthi
Loading...