Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 29, 2022 · 1 min read

पल

पल

कोई अटका पल
शायद आज लिख दे
अपनी जुबानी
कोई आपबीती
अपनी कहानी
——–*—–
कोई हर्षित पल
शायद आज पिरो दे
बिन बात में हंसाई
हंसते-हंसते में रुलाई
नृतन मन मयूरी
निरखन सपन सिन्दुरी
——–*—–
कोई अनुरक्त पल
शायद आज प्रवाह दे
पाषाण में प्राण
मुकुलित मुस्कान
मंगल मोद गान
——–*—–
कोई पवित्र पल
शायद दे कोई सौगात
मन हो सिंधु सरीखा
रंज हो तिल सरीखा
हर्ष हो ताड़ सरीखा
संगीता बैनीवाल

9 Likes · 12 Comments · 456 Views
You may also like:
आप कौन है
Sandeep Albela
मन
शेख़ जाफ़र खान
बदरिया
Dhirendra Panchal
कहानी *"ममता"* पार्ट-3 लेखक: राधाकिसन मूंधड़ा, सूरत।
radhakishan Mundhra
विदाई की घड़ी आ गई है,,,
Taj Mohammad
अरदास
Buddha Prakash
फ़नकार समझते हैं Ghazal by Vinit Singh Shayar
Vinit kumar
नजर तो मुझको यही आ रहा है
gurudeenverma198
महबूब
Gaurav Dehariya साहित्य गौरव
यकीन कैसा है
Dr fauzia Naseem shad
नहीं बचेगी जल विन मीन
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
विसर्जन
Saraswati Bajpai
पानी बरसे मेघ से
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
जुनू- जुनू ,जुनू चढा तेरे प्यार का
Swami Ganganiya
मकड़जाल
Vikas Sharma'Shivaaya'
उम्मीद की रोशनी में।
Taj Mohammad
बाबासाहेब 'अंबेडकर '
Buddha Prakash
'' पथ विचलित हिंदी ''
Dr Meenu Poonia
ये जी चाहता है।
Taj Mohammad
विन मानवीय मूल्यों के जीवन का क्या अर्थ है
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
ये नारी है नारी।
Taj Mohammad
✍️अपनों के दाँव थे✍️
'अशांत' शेखर
🍀🌺परमात्मा सर्वोपरि🌺🍀
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
पत्र की स्मृति में
Rashmi Sanjay
अजीब मनोस्थिति "
Dr Meenu Poonia
पेड़ पौधों के बीच में
जगदीश लववंशी
कारगिल फतह का २३वां वर्ष
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
थियोसॉफी की कुंजिका (द की टू थियोस्फी)* *लेखिका : एच.पी....
Ravi Prakash
नर्सिंग दिवस विशेष
हरीश सुवासिया
छोड़कर ना जाना कभी।
Taj Mohammad
Loading...