Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings

” ——————————————— पल पल को महकाऊँ ” !!

तेरे मन की भाषा जानूँ , खड़ी खड़ी मुस्काउं !
जुल्फों की जंजीर न बाँधूँ , आओ इसे लहराउं !!

कुन्दन कुन्दन देह सजी है , केसरिया है बाना !
चन्दन जैसी महकी साँसें , पल पल को महकाऊँ !!

रंग हीना का चढ़ा गज़ब है , हरएक मुझको टोके !
तेरी प्रीत हृदय बसी है , कैसे इसे जताऊं !!

गालों पर बिखरे गुलाब हैं , अधरों पर अगवानी !
हया हुई है आज हवा सी, खुद से ही शरमाऊं !!

नयनों में एक नशा चढ़ा है , पलकें बोझिल बोझिल !
हवा करे है अगर शरारत , बहकी बहकी जाऊं !!

कर्ण सुने पदचाप जरा सी , मन बेकल होता है !
वक्त यों ही काटे ना कटता , कैसे दिल बहलाऊँ !!

कदमताल होती है प्रतिपल , ऐसी एक हलचल है !
दरवाजे पर दस्तक पाकर , खुशी से मैं लहराउं !!

बृज व्यास

238 Views
You may also like:
गीत- जान तिरंगा है
आकाश महेशपुरी
पिता
लक्ष्मी सिंह
प्यार
Anamika Singh
बेटी को जन्मदिन की बधाई
लक्ष्मी सिंह
नदी की अभिलाषा / (गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
श्रम पिता का समाया
शेख़ जाफ़र खान
जब बेटा पिता पे सवाल उठाता हैं
Nitu Sah
स्वर कटुक हैं / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
✍️रास्ता मंज़िल का✍️
Vaishnavi Gupta
पापा को मैं पास में पाऊँ
Dr. Pratibha Mahi
*"पिता"*
Shashi kala vyas
मै पैसा हूं दोस्तो मेरे रूप बने है अनेक
Ram Krishan Rastogi
सूरज से मनुहार (ग्रीष्म-गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
✍️कलम ही काफी है ✍️
Vaishnavi Gupta
छोड़ दो बांटना
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
चोट गहरी थी मेरे ज़ख़्मों की
Dr fauzia Naseem shad
पिता
विजय कुमार 'विजय'
पिता
Dr. Kishan Karigar
और जीना चाहता हूं मैं
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
आज अपना सुधार लो
Anamika Singh
दर्द की हम दवा
Dr fauzia Naseem shad
पिता
Dr.Priya Soni Khare
पवनपुत्र, हे ! अंजनि नंदन ....
ईश्वर दयाल गोस्वामी
"सावन-संदेश"
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
संघर्ष
Sushil chauhan
ओ मेरे !....
ईश्वर दयाल गोस्वामी
ओ मेरे साथी ! देखो
Anamika Singh
दिलों से नफ़रतें सारी
Dr fauzia Naseem shad
वृक्ष थे छायादार पिताजी
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
हमारे बाबू जी (पिता जी)
Ramesh Adheer
Loading...