Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
30 Mar 2020 · 1 min read

पलायन का जन्म

हमने गरीब बन कर जन्म नहीं लिया था
हां, अमीरी हमें विरासत में नहीं मिली थी
हमारी क्षमताओं को परखने से पूर्व ही
हमें गरीब घोषित कर दिया गया

किंतु फिर भी
हमने इसे स्वीकार नहीं किया
कुदाल उठाया, धरती का सीना चीरा और बीज बो दिया
हमारी मेहनत रंग लाई, फसल लहलहा उठी

प्रसन्नता नेत्रों के रास्ते हृदय में
पहुंचने ही वाली थी कि अचानक
रात के अंधेरे में, भीषण बाढ़ आई
और हमारे भविष्य, भूत और वर्तमान को
अपने साथ बहा ले गई

हमारे साथ रह गया
केवल हमारा हौसला
इसे साथ लेकर चल पड़े हम
अपनी हड्डियों से
भारत की अट्टालिकाओं का
निर्माण करने

शायद बाबूजी सही कहते थे
मजदूर के घर
गरीबी के गर्भ में
पलायन ही पलता है।

:- आलोक कौशिक

संक्षिप्त परिचय:-

नाम- आलोक कौशिक
शिक्षा- स्नातकोत्तर (अंग्रेजी साहित्य)
पेशा- पत्रकारिता एवं स्वतंत्र लेखन
साहित्यिक कृतियां- प्रमुख राष्ट्रीय समाचारपत्रों एवं साहित्यिक पत्रिकाओं में दर्जनों रचनाएं प्रकाशित
पता:- मनीषा मैन्शन, जिला- बेगूसराय, राज्य- बिहार, 851101,
अणुडाक- devraajkaushik1989@gmail.com
अणुभाष:- 8292043472

Language: Hindi
Tag: कविता
1 Like · 2 Comments · 354 Views
You may also like:
"विडम्बना"
Dr. Kishan tandon kranti
“
“" हिन्दी मे निहित हमारे संस्कार” "
Dr Meenu Poonia
[ पुनर्जन्म एक ध्रुव सत्य ] अध्याय २.
[ पुनर्जन्म एक ध्रुव सत्य ] अध्याय २.
Pravesh Shinde
जीतकर ही मानेंगे
जीतकर ही मानेंगे
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
*मिला कहीं से एक पटाखा (बाल कविता)*
*मिला कहीं से एक पटाखा (बाल कविता)*
Ravi Prakash
चार साहबजादे
चार साहबजादे
Satish Srijan
गीत नए गाने होंगे
गीत नए गाने होंगे
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
अब हार भी हारेगा।
अब हार भी हारेगा।
Chaurasia Kundan
प्रेरणा
प्रेरणा
Shiv kumar Barman
परिस्थितियां
परिस्थितियां
दशरथ रांकावत 'शक्ति'
तेरी यादों की खुशबू
तेरी यादों की खुशबू
Ram Krishan Rastogi
घर
घर
Saraswati Bajpai
एक दिन
एक दिन
Ranjana Verma
#डॉअरुणकुमारशास्त्री
#डॉअरुणकुमारशास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
हार कर भी जो न हारे
हार कर भी जो न हारे
AMRESH KUMAR VERMA
स्पार्टकस का विद्रोह
स्पार्टकस का विद्रोह
Shekhar Chandra Mitra
पता ही नहीं चला
पता ही नहीं चला
Surinder blackpen
बादल  खुशबू फूल  हवा  में
बादल खुशबू फूल हवा में
shabina. Naaz
Advice
Advice
Shyam Sundar Subramanian
Birthday wish
Birthday wish
Ankita Patel
कितना मुश्किल है
कितना मुश्किल है
Dr fauzia Naseem shad
आईना...
आईना...
डॉ.सीमा अग्रवाल
👌आज का शेर —
👌आज का शेर —
*Author प्रणय प्रभात*
बाल दिवस पर मेरी कविता
बाल दिवस पर मेरी कविता
तरुण सिंह पवार
छठ पर्व
छठ पर्व
सत्यम प्रकाश 'ऋतुपर्ण'
तुम इतना सिला देना।
तुम इतना सिला देना।
Taj Mohammad
💐प्रेम कौतुक-314💐
💐प्रेम कौतुक-314💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
'राम-राज'
'राम-राज'
पंकज कुमार कर्ण
मृत्यु... (एक अटल सत्य )
मृत्यु... (एक अटल सत्य )
Dr. Akhilesh Baghel "Akhil"
थोड़ी होश
थोड़ी होश
Dr Rajiv
Loading...