Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
26 May 2022 · 1 min read

# पर_सनम_तुझे_क्या

Ha मैं हस्ता हू पर खुश नहीं
सोता हू पर नींद नहीं
Main खाता हूं पर भूख नही
सोचता हूं पर वो ख़ुआव नहीं……………
Main बोलता हूं पर अब वो बात नहीं
अकेला हूं पर कोई पास भी नहीं

हम जिये या मरे पर सनम तुझे क्या
हम जागे या सोये पर सनम तुझे क्या

इन हवाओं में अब वो जज़्बात भी नहीं
काले बादल तो है पर बरसात भी नहीं
तू साथ होके भी साथ नहीं
Haaa ये दिल तो है sala प्यार भी नही ,

हम्म जिये या मरे पर सनम तुझे क्या
हम्म जागे या सोये पर सनम तुझे क्या

जिस चेहरे पे थी हसी , पर रहती हैं अब मायूसी
जिन आखों में थे सुअपन , पर हैं अब वो नम
जिन हाथों में थी क़लम , पर थामे है वो शराब
जिस दिल मे थे सनम , पर है अब वहाँ ज़ख्म
जिन बातों में थे तुम , पर रहते है अब चुप हम्म

हम जिये या मरे पर सनम तुझे क्या
हम जागे या सोये पर सनम तुझे क्या
हम हसे या रोये पर सनम तुझे क्या

D.k math

Language: Hindi
Tag: कविता
1 Like · 145 Views
You may also like:
उन्हें नहीं मालूम
Brijpal Singh
" बुलबुला "
Dr Meenu Poonia
चूहा दौड़
Buddha Prakash
परिचय
Pakhi Jain
✍️उत्सव और मातम…
'अशांत' शेखर
स्मृति : गीतकार श्री किशन सरोज
Ravi Prakash
नाम में क्या रखा है
सूर्यकांत द्विवेदी
मुकद्दर तेरा मेरा
VINOD KUMAR CHAUHAN
कब बरसोगें
Swami Ganganiya
अस्फुट सजलता
Rashmi Sanjay
इंसानी दिमाग
विजय कुमार अग्रवाल
हम है वतन के।
Taj Mohammad
समय को दोष देते हो....!
Dr. Pratibha Mahi
दर्शन शास्त्र के ज्ञाता, अतीत के महापुरुष
Mahender Singh Hans
ज़मीं की गोद में
Dr fauzia Naseem shad
आज का बालीवुड
Shekhar Chandra Mitra
असीम जिंदगी...
मनोज कर्ण
सोचता हूं कैसे भूल पाऊं तुझे
Er.Navaneet R Shandily
फास्ट फूड
Utsav Kumar Aarya
रोशन सारा शहर देखा
कवि दीपक बवेजा
जिंदगी तुमसे जीना सीखा
Abhishek Pandey Abhi
हरित वसुंधरा।
Anil Mishra Prahari
मन की बात 🥰
Ankita
■ आज का दोहा
*Author प्रणय प्रभात*
हिन्द की तलवार हो
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
सावन सजनी पर दोहे
Ram Krishan Rastogi
बेबस-मन
विजय कुमार नामदेव
दामोदर लीला
Pooja Singh
तुम न आये मगर..
लक्ष्मी सिंह
अंदाज़े मुहब्बत नया होगा
shabina. Naaz
Loading...