Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

पर्यावरण और मानव

पेड़ लगाकर पर्यावरण बनाएं
धरती मां को हरा-भरा बनाएं
बीमारियों से देश को बचाएं
धरती मां सबकी माता है
जड़-चेतन से सभी का नाता है
शुद्ध पर्यावरण से वर्षा होगी
धरती मां की प्यास बुझेगी
पर्यावरण हमारे जीवन का अंग
मानव पर्यावरण को न कर तंग
पर्यावरण से स्वच्छ तन मन हो
स्वच्छ खेत खलियान हो
सभी सुखी निरोगी हो
सभी का कल्याण हो
कोई भी दुख का न भागी हो
हम पर्यावरण को स्वच्छ बनाएंगे
’अंजुम’ भारत को पृथ्वी का स्वर्ग बनाएंगे

नाम-मनमोहन लाल गुप्ता ’अंजुम’
नजीबाबाद, जिला बिजनौर, यूपी
मोबाइल नंबर 9152859828

1 Like · 2 Comments · 88 Views
You may also like:
Waqt
ananya rai parashar
जगाओ हिम्मत और विश्वास तुम
gurudeenverma198
बाबू जी
Anoop Sonsi
बॉलीवुड का अंधा गोरी प्रेम और भारतीय समाज पर इसके...
हरिनारायण तनहा
मारुति वंदन
Vishnu Prasad 'panchotiya'
वेदना के अमर कवि श्री बहोरन सिंह वर्मा प्रवासी*
Ravi Prakash
एक आवाज़ पर्यावरण की
Shriyansh Gupta
एक मजदूर
Rashmi Sanjay
*हास्य-रस के पर्याय हुल्लड़ मुरादाबादी के काव्य में व्यंग्यात्मक चेतना*
Ravi Prakash
हंँसना तुम सीखो ।
Buddha Prakash
जीवन साथी
जगदीश लववंशी
सम्भव कैसे मेल सखी...?
पंकज परिंदा
मानव छंद , विधान और विधाएं
Subhash Singhai
ऐसा मैं सोचता हूँ
gurudeenverma198
दर्द के रिश्ते
Vikas Sharma'Shivaaya'
भारत बनाम (VS) पाकिस्तान
Dr.sima
कामयाबी
डी. के. निवातिया
अम्बेडकर जी के सपनों का भारत
Shankar J aanjna
नैतिकता और सेक्स संतुष्टि का रिलेशनशिप क्या है ?
Deepak Kohli
*!* मोहब्बत पेड़ों से *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
हम गीत ख़ुशी के गाएंगे
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
जिन्दगी तेरा फलसफा।
Taj Mohammad
उस दिन
Alok Saxena
**अनमोल मोती**
Dr. Alpa H. Amin
सबसे बेहतर है।
Taj Mohammad
और मैं .....
AJAY PRASAD
प्रिय
D.k Math
* सत्य,"मीठा या कड़वा" *
मनोज कर्ण
दिए जो गम तूने, उन्हे अब भुलाना पड़ेगा
Ram Krishan Rastogi
$तीन घनाक्षरी
आर.एस. 'प्रीतम'
Loading...