Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

परशुराम स्तुति

*परशुराम स्तुति*
जय परशुराम जमदग्नि सुत जय रेणुका सुख वर्धकं।
जय दैत्यवन दावानलं जय शत्रु दंभ विमर्दकं।

कर परशु चण्ड शरासनं तलवार शर भयंकरं।
सिर जूट तन मृगचर्म कर रुद्राक्ष स्रज मुनिवरं।

षष्ठावतारं विष्णु द्विजवर भाल त्रिपुण्ड्र मनोहरं।
आवेश खल प्रति अमित सज्जन हेतु अति करुणाकरं।

श्री शंभु प्रिय तपसी सहसभुज दर्प पुंज विनाशकं।
गौ देव द्विज वसुधा उधारक रक्षकं अनुशासकं।

अज ब्रह्म अक्षर शाश्वतं मनवेग गति पथ चालकं।
वासी महेन्द्राचल वसौ मम उर जगत प्रतिपालकं।

अंकित शर्मा ‘इषुप्रिय’
रामपुर कलाँ, सबलगढ(म.प्र.)

2 Likes · 2 Comments · 1285 Views
You may also like:
आजादी का जश्न
DESH RAJ
गाँधी जी की लाठी
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
अल्फाज़ ए ताज भाग-5
Taj Mohammad
#मजबूरी
D.k Math
अन्तर्मन ....
Chandra Prakash Patel
अद्भभुत है स्व की यात्रा
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
"पिता"
Dr. Alpa H. Amin
🙏मॉं कालरात्रि🙏
पंकज कुमार "कर्ण"
चाँद ने कहा
कुमार अविनाश केसर
क्या क्या हम भूल चुके है
Ram Krishan Rastogi
✍️मैंने पूछा कलम से✍️
"अशांत" शेखर
पिता की नियति
Prabhudayal Raniwal
ए बदरी
Dhirendra Panchal
धन्य है पिता
Anil Kumar
ए- अनूठा- हयात ईश्वरी देन
AMRESH KUMAR VERMA
✍️दो पंक्तिया✍️
"अशांत" शेखर
पिता मेरे /
ईश्वर दयाल गोस्वामी
बेरोजगारी जवान के लिए।
Taj Mohammad
🍀🌺प्रेम की राह पर-43🌺🍀
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
रिश्तों की डोर
मनोज कर्ण
हर साल क्यों जलाए जाते हैं उत्तराखंड के जंगल ?
Deepak Kohli
जब हम छोटे बच्चे थे ।
Saraswati Bajpai
नींबू की चाह
Ram Krishan Rastogi
तजर्रुद (विरक्ति)
Shyam Sundar Subramanian
भक्त कवि स्वर्गीय श्री रविदेव_रामायणी*
Ravi Prakash
चौकड़िया छंद / ईसुरी छंद , विधान उदाहरण सहित ,...
Subhash Singhai
दो दिलों का मेल है ये
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
“ राजा और प्रजा ”
DESH RAJ
My Expressions
Shyam Sundar Subramanian
A Warrior Of The Darkness
Manisha Manjari
Loading...