Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
18 Jul 2022 · 1 min read

पढ़े लिखे खाली घूमे,अनपढ़ करे राज (हास्य व्यंग)

सहमा सहमा घूम रहा,युवक है आज।
पढ़े लिखे खाली घूमे,अनपढ़ करे राज।।

कौन पूछता योग्यता,सोर्स हैं हर आधार।
सोर्स वाला सफल है बाकी सब बेकार।।

गूंगे गावे,बहरे ताल लगावे है आज।
अंधा गवाही देत है,न्यायलय में आज।।

हंस चुगे है दाना दुनका,कौवे मोती खाते।
जिनके पास कुर्सी है,वे ही हलवा खाते।।

पैसा हो अब गया है,अच्छे संबंधों की माप।
ईमानदारी से काम करोगे,भूखे मरेंगे आप।।

दान दहेज बन गया,अच्छी शादी का प्रमाण।
जिसके पास पैसा है,उसके पास है कमान।।

न्याय अब बिक रहा है,सरे आम बाज़ार।
न्यायलय अब बन गए,झूठो के दरबार।।

मगंगाई बढ़ गई,छू रही है आस्मां आज।
पेट्रोल से ज्यादा महंगे है आलू व प्याज।।

सास ससुर काम करे है,बहु करती राज।
बेटी मायके में रहती है,काम करे न काज।।

अच्छे दिन कब आयेंगे,पूछ रहे सब आज।
बुरे दिनो को अच्छा समझो,तुम सब आज।।

रस्तोगी क्या लिखे अपने सच्चे नए विचार।
सच्चे विचारो का पड़ता है आज है अचार।।

आर के रस्तोगी गुरुग्राम

5 Likes · 5 Comments · 208 Views
You may also like:
पत्नि जो कहे,वह सब जायज़ है
Ram Krishan Rastogi
" एक हद के बाद"
rubichetanshukla रुबी चेतन शुक्ला
जो दिल ओ ज़ेहन में
Dr fauzia Naseem shad
स्वर कटुक हैं / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
पिता का सपना
Prabhudayal Raniwal
वेदों की जननी... नमन तुझे,
मनोज कर्ण
गरीबी पर लिखे अशआर
Dr fauzia Naseem shad
हमारी सभ्यता
Anamika Singh
मेरे पिता है प्यारे पिता
Vishnu Prasad 'panchotiya'
अमर शहीद चंद्रशेखर "आज़ाद" (कुण्डलिया)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
जब गुलशन ही नहीं है तो गुलाब किस काम का...
लवकुश यादव "अज़ल"
पिता
Shailendra Aseem
बुन रही सपने रसीले / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
टूट कर की पढ़ाई...
आकाश महेशपुरी
✍️कोई तो वजह दो ✍️
Vaishnavi Gupta
बहुत उम्मीद रखना भी
Dr fauzia Naseem shad
वो हैं , छिपे हुए...
मनोज कर्ण
कोशिशें हों कि भूख मिट जाए ।
Dr fauzia Naseem shad
पिता
लक्ष्मी सिंह
हम मुकद्दर पर
Dr fauzia Naseem shad
गीत
शेख़ जाफ़र खान
ग़ज़ल
सुरेखा कादियान 'सृजना'
कौन था वो ?...
मनोज कर्ण
जिम्मेदारी और पिता
Dr. Kishan Karigar
बोझ
आकांक्षा राय
【6】** माँ **
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
संघर्ष
Sushil chauhan
ओ मेरे साथी ! देखो
Anamika Singh
दुनिया की आदतों में
Dr fauzia Naseem shad
क्या मेरी कलाई सूनी रहेगी ?
Kumar Anu Ojha
Loading...