Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Mar 6, 2022 · 1 min read

पंछी हमारा मित्र

सुबह – सुबह जो उठके
सहजात अपव्यय करती
चीं – चीं की आवाजों से
एक तरह से हम सब का
पंछी होता सहचर हमारा ।

पंछी शुचि करती कीटों को
जिस अज़ा कम पड़ जाती
हम सब मनुजों को चित्त से
करना चाहिए शुक्रिया इन्हें
पंछी होता सहचर हमारा ।

ये खग हम मनुष्यों को
करता हर पल आश्रय
इनकी अवलंब को हम
करते हैं बिल्कुल ना कद्र
पंछी होता सहचर हमारा ।

हमें इन सब अडजों को
न करना चाहिए घनीभूत
हमें इन्हें कुछ दाना देकर
मिलती है मानस को ठंढक
पंछी होता सहचर हमारा ।

अमरेश कुमार वर्मा
जवाहर नवोदय विद्यालय बेगूसराय, बिहार

100 Views
You may also like:
*जो हुकुम सरकार (गीतिका)*
Ravi Prakash
अपने कदमों को बस
Dr fauzia Naseem shad
लड़ते रहो
Vivek Pandey
ऋतुराज का हुआ शुभारंभ
Vishnu Prasad 'panchotiya'
शायरी
श्याम सिंह बिष्ट
सावन में एक नारी की अभिलाषा
Ram Krishan Rastogi
मेरा सुकूं चैन ले गए।
Taj Mohammad
पापा
Nitu Sah
बेटी....
Chandra Prakash Patel
घर घर तिरंगा फहराएंगे
Ram Krishan Rastogi
ओ जानें ज़ाना !
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
पारिवारिक बंधन
AMRESH KUMAR VERMA
श्री गंगा दशहरा द्वार पत्र (उत्तराखंड परंपरा )
श्याम सिंह बिष्ट
बाबू जी
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
✍️किताबें और इंसान✍️
'अशांत' शेखर
अनोखा‌ रिश्ता दोस्ती का
AMRESH KUMAR VERMA
सुधार लूँगा।
Vijaykumar Gundal
ये सियासत है।
Taj Mohammad
*श्री हुल्लड़ मुरादाबादी 【कुंडलिया】*
Ravi Prakash
“ अमिट संदेश ”
DrLakshman Jha Parimal
फूल की ललक
Vijaykumar Gundal
महाकवि भवप्रीताक सुर सरदार नूनबेटनी बाबू
श्रीहर्ष आचार्य
सिरत को सजाओं
Anamika Singh
ग़ज़ल
Mahendra Narayan
✍️मुकद्दर आजमाते है✍️
'अशांत' शेखर
'चाँद गगन में'
Godambari Negi
बेदर्द -------
लक्ष्मण 'बिजनौरी'
हे महाकाल, शिव, शंकर।
Taj Mohammad
पति पत्नी पर हास्य व्यंग
Ram Krishan Rastogi
जात पात
Harshvardhan "आवारा"
Loading...