Sep 10, 2016 · 1 min read

न्यौछावर हैं प्राण..

बहना राखी बाँधती, भैया पढ़ता मंत्र,
राजा बलि रक्षा करें, बँधा लक्ष्मी यंत्र.
बँधा लक्ष्मी यंत्र, रोग ऋण दूर सभी हों,
बाह्य आंतरिक शत्रु, नष्ट हो दूर अभी हों.
भगिनी को सम्मान, सदा दें मानें कहना,
न्यौछावर हैं प्राण, देख हर्षित है बहना..

इंजी० अम्बरीष श्रीवास्तव ‘अम्बर’

85 Views
You may also like:
छीन लिए है जब हक़ सारे तुमने
Ram Krishan Rastogi
शहीद रामचन्द्र विद्यार्थी
Jatashankar Prajapati
प्रेम की पींग बढ़ाओ जरा धीरे धीरे
Ram Krishan Rastogi
यह कैसा एहसास है
Anuj yadav
कर्म
Rakesh Pathak Kathara
पृथ्वी दिवस
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
मैं भारत हूँ
Dr. Sunita Singh
उत्तर प्रदेश दिवस
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
बच्चों के पिता
Dr. Kishan Karigar
आपकी याद
Abhishek Upadhyay
भारतवर्ष स्वराष्ट्र पूर्ण भूमंडल का उजियारा है
Pt. Brajesh Kumar Nayak
🍀🌺प्रेम की राह पर-51🌺🍀
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
जीवन एक कारखाना है /
ईश्वर दयाल गोस्वामी
खामोशियाँ
अंजनीत निज्जर
तेरे संग...
Dr. Alpa H.
बेजुबान
Anamika Singh
बुलंद सोच
Dr. Alpa H.
करते रहो सितम।
Taj Mohammad
$गीत
आर.एस. 'प्रीतम'
🌺🌺🌺शायद तुम ही मेरी मंजिल हो🌺🌺🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
बाबा साहेब जन्मोत्सव
Mahender Singh Hans
शायद...
Dr. Alpa H.
काफ़िर जमाना
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
प्रलयंकारी कोरोना
Shriyansh Gupta
पिता का पता
श्री रमण
अश्रु देकर खुद दिल बहलाऊं अरे मैं ऐसा इंसान नहीं
VINOD KUMAR CHAUHAN
कभी मिट्टी पर लिखा था तेरा नाम
Krishan Singh
मनमीत मेरे
Dr.sima
खो गया है बचपन
Shriyansh Gupta
बुद्ध धाम
Buddha Prakash
Loading...