Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

नौकर

मालिक ने लिखाई का कार्य करने के बाद दवात जल्दी में फर्श पर ही छोड़ दी थी। नौकर रामू किसी काम से अंदर आया तो जल्दी में उसके पैर की ठोकर दवात पर लग गई।स्याही फ़र्श पर फैल गई। इतने में मालिक आ गये।रामू को डाँटते हुए बोले –“दिखाई नहीं देता तुम्हें, सुबह-सुबह सात रुपये का नुक्सान कर दिया,शर्म आनी चाहिए तुम्हें।स्याही के सारे पैसे तुम्हारी तनख्वाह में से काटूँगा।”रामू कुछ भी बोल नहीं पाया ।
आज फिर जल्दबाजी में मालिक दवात फर्श पर ही भूल गये थे।कमरे के अंदर आते समय उनका पैर दवात से टकरा गया।स्याही फर्श पर फैल गई।तुरंत रामू को बुलाया और बोले –“आज फिर नुक्सान कर दिया, तुमने फर्श से दवात को उठाया क्यों नहीँ? दवात क्या मैं उठाऊंगा? शर्म आनी चाहिए तुम्हें।नुक्सान के सारे पैसे तुम्हारी तनख्वाह में से काटूँगा।” रामू आज भी सिर झुकाए मालिक की डाँट सुन रहा था ।

— हरीश सेठी ‘झिलमिल ‘

1 Like · 147 Views
You may also like:
जिन्दगी तेरा फलसफा।
Taj Mohammad
💐 हे तात नमन है तुमको 💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
तप रहे हैं दिन घनेरे / (तपन का नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
تیری یادوں کی خوشبو فضا چاہتا ہوں۔
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
पिता मेरे /
ईश्वर दयाल गोस्वामी
Tell the Birds.
Taj Mohammad
✍️वो "डर" है।✍️
"अशांत" शेखर
✍️पत्थर✍️
"अशांत" शेखर
جانے کہاں وہ دن گئے فصل بہار کے
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
✍️एक फ़रियाद..✍️
"अशांत" शेखर
" दिव्य आलोक "
DrLakshman Jha Parimal
छोटी-छोटी चींटियांँ
Buddha Prakash
माँ की परिभाषा मैं दूँ कैसे?
Jyoti Khari
हमनें ख़ामोश
Dr fauzia Naseem shad
निज़ामी आसमां की।
Taj Mohammad
वक्त बदलता रहता है
Anamika Singh
कण कण तिरंगा हो, जनगण तिरंगा हो
डी. के. निवातिया
प्रेम गीत
Harshvardhan "आवारा"
बाबू जी
Anoop Sonsi
मां।
Taj Mohammad
हम पर्यावरण को भूल रहे हैं
VINOD KUMAR CHAUHAN
बड़ी बेवफ़ा थी शाम .......
लक्ष्मण 'बिजनौरी'
ऐ जाने वफ़ा मेरी हम तुझपे ही मरते हैं।
सत्य कुमार प्रेमी
एक गलती ( लघु कथा)
Ravi Prakash
दूल्हे अब बिकते हैं (एक व्यंग्य)
Ram Krishan Rastogi
'कृषि' (हरिहरण घनाक्षरी)
Godambari Negi
ये दिल
Dr fauzia Naseem shad
जातिगत जनगणना से कौन डर रहा है ?
Deepak Kohli
✍️एक तारा आसमाँ से टूटा था✍️
"अशांत" शेखर
✍️✍️रब्त✍️✍️
"अशांत" शेखर
Loading...