Sep 22, 2016 · 1 min read

नेह

नेह की परिभाषा क्या है ?
नेह की अभिलाषा क्या है ?
नेह बगिया में खिलता फूल
नेह मानव की प्यारी भूल ।
नेह ही नेह का है अहसास
नेह ,अतृप्त रहने वाली प्यास ।
नेह है निधियों का एक रूप
जिसकी हर प्राणी को तृष्णा ,
नेह है एक राधा नाम
जहाँ सदा बसते हैं कृष्णा ।
नेह माँ की ममता की छाँव
नेह पापा का आशीर्वाद ,
नेह भाई – बहन का प्यार
नेह है दुनिया का आधार ।
नेह मन से मन का है जोड़ ,
नेह जन्म जन्मान्तर की डोर ।
नेह बिना जीवन अपूर्ण
नेह नेह से मिलकर पूर्ण ।
नेह गौरी शिव का मिलन ,
नेह राम सिया का धन ।
नेह राधा कृष्णा का नाम
नेह कमला विष्णु का धाम ।
नेह का नेह से मिल जाना
नेह की सच्ची परिभाषा है ।
नेह का हर घर बस जाना
नेह की ये ही अभिलाषा है ।

डॉ रीता
आया नगर , नयी दिल्ली – 47

218 Views
You may also like:
कन्यादान क्यों और किसलिए [भाग २]
Anamika Singh
तपिश
SEEMA SHARMA
गरीब लड़की का बाप है।
Taj Mohammad
दंगा पीड़ित
Shyam Pandey
💐प्रेम की राह पर-31💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
ग़ज़ल
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
विश्व पृथ्वी दिवस
Dr Archana Gupta
हर अश्क कह रहा है।
Taj Mohammad
जिंदगी का मशवरा
Krishan Singh
जो मौका रहनुमाई का मिला है
Anis Shah
चलों मदीने को जाते हैं।
Taj Mohammad
इंतजार मत करना
Rakesh Pathak Kathara
"मैंने दिल तुझको दिया"
Ajit Kumar "Karn"
चांदनी में बैठते हैं।
Taj Mohammad
🌺🌺प्रेम की राह पर-41🌺🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
*झाँसी की क्षत्राणी । (झाँसी की वीरांगना/वीरनारी)
Pt. Brajesh Kumar Nayak
परेशां हूं बहुत।
Taj Mohammad
💐प्रेम की राह पर-28💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
माँ
संजीव शुक्ल 'सचिन'
मेरा ना कोई नसीब है।
Taj Mohammad
हे कुंठे ! तू न गई कभी मन से...
ओनिका सेतिया 'अनु '
# हे राम ...
Chinta netam मन
* अदृश्य ऊर्जा *
Dr. Alpa H.
तेरे दिल में कोई और है
Ram Krishan Rastogi
सिपाही
Buddha Prakash
प्रणाम : पल्लवी राय जी तथा सीन शीन आलम साहब
Ravi Prakash
'बेदर्दी'
Godambari Negi
गँवईयत अच्छी लगी
सिद्धार्थ गोरखपुरी
आ जाओ राम।
Anamika Singh
सट्टेबाज़ों से
Suraj Kushwaha
Loading...