Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

नीतिश्लोकम्

तत्र किंचिन्न वक्तव्यं, अयाचित: मतिर्तव।
निष्फलं तत्र तज्ज्ञानं, अन्धाय दीपकं यथा।

अंकित शर्मा ‘इषुप्रिय’

3 Likes · 2 Comments · 172 Views
You may also like:
पिता श्रेष्ठ है इस दुनियां में जीवन देने वाला है
सतीश मिश्र "अचूक"
बहन का जन्मदिन
Khushboo Khatoon
कभी कभी।
Taj Mohammad
कलम
Dr Meenu Poonia
रेत समाधि : एक अध्ययन
Ravi Prakash
" जीवित जानवर "
Dr Meenu Poonia
वो कली मासूम
सूर्यकांत द्विवेदी
💐💐प्रेम की राह पर-13💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
दीप तुम प्रज्वलित करते रहो।
Taj Mohammad
फ़ालतू बात यही है
gurudeenverma198
तो पिता भी आसमान है।
Taj Mohammad
अक्षय तृतीया
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
सलाम
Shriyansh Gupta
दिल,एक छोटी माँ..!
मनोज कर्ण
💐💐प्रेम की राह पर-19💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
मजदूर की अंतर्व्यथा
Shyam Sundar Subramanian
वैवाहिक वर्षगांठ मुक्तक
अभिनव मिश्र अदम्य
मुस्कुराहटों के मूल्य
Saraswati Bajpai
ग़ज़ल
Mukesh Pandey
* उदासी *
Dr. Alpa H. Amin
कब आओगे
dks.lhp
जो आया है इस जग में वह जाएगा।
Anamika Singh
प्रेम की पींग बढ़ाओ जरा धीरे धीरे
Ram Krishan Rastogi
कड़वा सच
Rakesh Pathak Kathara
ये जज़्बात कहां से लाते हो।
Taj Mohammad
"लाइलाज दर्द"
DESH RAJ
कोमल एहसास प्यार का....
Dr. Alpa H. Amin
" शीतल कूलर
Dr Meenu Poonia
अराजकता बंद करो ..
ओनिका सेतिया 'अनु '
हमदर्द कैसे-कैसे
Shivkumar Bilagrami
Loading...