Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

नियत देखी

उस आदमी ने बड़े सुकून से ,आदमियत देखी।
उसने लोगों के बीच की ,हसीन कैफ़ियत देखी।
वो भागता रह गया आदमी को आदमी बनाने के लिए,
लोग उसे कोसते रहे ,जिसने अच्छी नियत देखी।
– सिद्धार्थ पाण्डेय

1 Like · 165 Views
You may also like:
कलम
AMRESH KUMAR VERMA
■■★परमात्मनः शक्ति:★■■
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
मेरी नेकियां।
Taj Mohammad
*हास्य-रस के पर्याय हुल्लड़ मुरादाबादी के काव्य में व्यंग्यात्मक चेतना*
Ravi Prakash
पिता की व्यथा
मनोज कर्ण
मिसाल
Kanchan Khanna
माँ
Dr Archana Gupta
ज़िंदगी की हक़ीक़त से
Dr fauzia Naseem shad
جانے کہاں وہ دن گئے فصل بہار کے
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
हवा का हुक़्म / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
.✍️आशियाना✍️
'अशांत' शेखर
शादी का उत्सव
AMRESH KUMAR VERMA
मेरा ना कोई नसीब है।
Taj Mohammad
उम्रें गुज़र गई हैं।
Taj Mohammad
✍️आईने लापता मिले✍️
'अशांत' शेखर
मेरी बेटी मेरी सहेली
लक्ष्मी सिंह
ग्रहण
ओनिका सेतिया 'अनु '
“ মাছ ভেল জঞ্জাল ”
DrLakshman Jha Parimal
बुलबुला
मनोज शर्मा
'पूर्णिमा' (सूर घनाक्षरी)
Godambari Negi
नन्हें फूलों की नादानियाँ
DESH RAJ
किसकी तलाश है।
Taj Mohammad
“ मेरे राम ”
DESH RAJ
कोई चाहने वाला होता।
Taj Mohammad
न थी ।
Rj Anand Prajapati
प्रतिष्ठित मनुष्य
AMRESH KUMAR VERMA
गँउआ
श्रीहर्ष आचार्य
तेरी जान।
Taj Mohammad
The Send-Off Moments
Manisha Manjari
रोमांस है
Pt. Brajesh Kumar Nayak
Loading...