Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#11 Trending Author
May 1, 2022 · 1 min read

नित नए संघर्ष करो (मजदूर दिवस)

संघर्ष करो,
नित नए संघर्ष करो,
मत भूलो
लक्ष्य कठिन है,
मत चूको
दुर्भेद्य नहीं है,
यह कैसी सरकार है?
पूंजीपति मालामाल है,
किसान मजदूर तंगहाल है,
सुधि लेता कौन?
नेताओं में होड़ मची है
अपनी सेहत चमकाने की,
कौन करेगा लीडरशिप
गरीबों और बदहालों की?
अब उठो किसानों, मजदूरों
कब तक हम ठगे जाएंगे?
शिक्षा का दीप जलाओ,
तनिक पर्दे के पीछे जाओ,
कर दो पर्दाफाश
खुलेगा पूरा आकाश,
होगा नया सवेरा
हमारा सपना पूरा।
(स्वरचित)
श्री रमण
बेगुसराय (बिहार)

6 Likes · 4 Comments · 151 Views
You may also like:
परिस्थितियों के आगे न झुकना।
Anamika Singh
💐प्रेम की राह पर-57💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
तुम ही ये बताओ
Mahendra Rai
दिल के जख्म कैसे दिखाए आपको
Ram Krishan Rastogi
नशामुक्ति (भोजपुरी लोकगीत)
संजीव शुक्ल 'सचिन'
तितली रानी (बाल कविता)
Anamika Singh
गाँधी जी की लाठी
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
💐प्रेम की राह पर-32💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
फूल और कली के बीच का संवाद (हास्य व्यंग्य)
Anamika Singh
ग्रीष्म ऋतु भाग 1
Vishnu Prasad 'panchotiya'
हवा के झोंको में जुल्फें बिखर जाती हैं
VINOD KUMAR CHAUHAN
कुंडलिया छंद
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
उफ ! ये गर्मी, हाय ! गर्मी / (गर्मी का...
ईश्वर दयाल गोस्वामी
घर आंगन
शेख़ जाफ़र खान
"दोस्त-दोस्ती और पल"
Lohit Tamta
सत्य कभी नही मिटता
Anamika Singh
आपस में तुम मिलकर रहना
Krishan Singh
अरदास
Vikas Sharma'Shivaaya'
💐 निगोड़ी बिजली 💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
ग़ज़ल- इशारे देखो
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
ग़ज़ल
Mahendra Narayan
*~* वक्त़ गया हे राम *~*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
मां के समान कोई नही
Ram Krishan Rastogi
प्रतीक्षा करना पड़ता।
Vijaykumar Gundal
इंसानियत
AMRESH KUMAR VERMA
पहचान लेना तुम।
Taj Mohammad
मां शारदे
मनमोहन लाल गुप्ता अंजुम
बंद हैं भारत में विद्यालय.
Pt. Brajesh Kumar Nayak
वक्त सा गुजर गया है।
Taj Mohammad
सजना शीतल छांव हैं सजनी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
Loading...