Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Aug 6, 2022 · 1 min read

ना कर नजरअंदाज

ना कर नजरअंदाज

माना सहज नहीं था सफर-ए-अंदाज़,
फूलों संग कांटों को भी सहा है,
अपनों की नसीहत को कर नजरअंदाज,
परायों की महफिल को सजाया है।।

सीमा टेलर, छिम़पीयान‌‌‌ लम्बोर, चुरू, राजस्थान

2 Likes · 34 Views
You may also like:
शोर मचाने वाले गिरोह
Anamika Singh
*अंतिम प्रणाम ! डॉक्टर मीना नकवी*
Ravi Prakash
बेसहारा हुए हैं।
Taj Mohammad
" समुद्री बादल "
Dr Meenu Poonia
स्याह रात ने पंख फैलाए, घनघोर अँधेरा काफी है।
Manisha Manjari
# दोस्त .....
Chinta netam " मन "
नहीं रहे "कहो न प्यार है" के गीतकार व हरदिल...
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
सबसे बड़ा सवाल मुँहवे ताकत रहे
आकाश महेशपुरी
✍️गर्व करो अपना यही हिंदुस्थान है✍️
'अशांत' शेखर
ये दिल
Dr fauzia Naseem shad
मेरी आंखों का
Dr fauzia Naseem shad
" सामोद वीर हनुमान जी "
Dr Meenu Poonia
बरसात
Ashwani Kumar Jaiswal
गीत
Kanchan Khanna
हमने प्यार को छोड़ दिया है
VINOD KUMAR CHAUHAN
बेवफाई
Anamika Singh
दिल से मदद
Dr fauzia Naseem shad
✍️बात बात में..✍️
'अशांत' शेखर
माँ क्या लिखूँ।
Anamika Singh
बचपन की यादें।
Anamika Singh
बुंदेली दोहा शब्द- थराई
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
सृजन
Prakash Chandra
कितनी बार लड़ हम गए
gurudeenverma198
आवत हिय हरषै नहीं नैनन नहीं स्नेह।
sheelasingh19544 Sheela Singh
बेजुबान जानवर अपने दोस्त
Manoj Tanan
अहसान मानता हूं।
Taj Mohammad
गाफिल।
Taj Mohammad
और न साजन तड़पाओ अब तुम
Ram Krishan Rastogi
🍀प्रेम की राह पर-55🍀
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
अमर शहीद चंद्रशेखर "आज़ाद" (कुण्डलिया)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
Loading...