Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 10, 2021 · 2 min read

नारी के बिन

वो राधा है वो गीता है वो शक्ति है वो सीता है
हर रूप में रंग अनोखा है सब नारी के बिन रीता है
पर हाय रे पतित जगत के रंग, हर रूप कुरूप करे ये ढंग
माँ भगिनी भाभी बेटी ये, जग इनसे चलना सीखा है

रुनझुन पायल पहने बेटी जब बाहों में इतराती है
कितना कठोर वो सीना हो अपनेपन से पिघलाती है
क्या इंसानो की दुनिया है बेटी लाने से डरते है
मानो पापों को हर लेती और कोई नही वो दुहिता है
हर रूप में रंग अनोखा है सब नारी के बिन रीता है

उम्र के साथ बड़ी होकर जब हाथो का सहारा बनती है
वो बहन ही होती है बन्धु, जो बिन बोले सब सुनती है
ये कैसे भाई बंधु है जो अपनी पराई करते है
ये है तो रंग है खुशियों में, बिन इनके जीवन फीका है
हर रूप में रंग अनोखा है सब नारी के बिन रीता है

जब यौवन कुछ कर जाता है पुरुषत्व अधूरा पाता है
भार्या बनती है नारी ही, जीवन पूरा हो जाता है
हरियाली है वो धरती पर दुख में खुशियों का बादल है
अंधेरा है सब इसके बिन, हाँ घर का वही उजीता है
हर रूप में रंग अनोखा है सब नारी के बिन रीता है

अब और क्या कहूँ क्या है वो हर शब्द तुच्छ मैं पाता हूं
माँ हो जाती है इतनी बड़ी, बस उंगली तक मैं जाता हूं
हाँ आज हूँ मैं कल कोई फिर इस दुनिया को समझायेगा
पापी है हम ये गंगाजल, हां नारी परम पुनिता है
हर रूप में रंग अनोखा है सब नारी के बिन रीता है

3 Likes · 4 Comments · 206 Views
You may also like:
" अखंड ज्योत "
Dr Meenu Poonia
सही दिशा में
Ratan Kirtaniya
✍️हम बगावत हो जायेंगे✍️
"अशांत" शेखर
ऐ जिंदगी।
Taj Mohammad
परिवर्तन की राह पकड़ो ।
Buddha Prakash
हम भी इसका
Dr fauzia Naseem shad
कलम
Dr Meenu Poonia
बन कर शबनम।
Taj Mohammad
पक्षियों से कुछ सीखें
Vikas Sharma'Shivaaya'
रूह को कैसे सजाओगे।
Taj Mohammad
*"यूँ ही कुछ भी नही बदलता"*
Shashi kala vyas
मजदूर_दिवस_पर_विशेष
संजीव शुक्ल 'सचिन'
पुस्तक -कैवल्य की परिचयात्मक समीक्षा
Rashmi Sanjay
कुछ ऐसे बिखरना चाहती हूँ।
Saraswati Bajpai
"बेटी के लिए उसके पिता "
rubichetanshukla रुबी चेतन शुक्ला
ज़िक्र तेरा
Dr fauzia Naseem shad
विश्वासघात
Mamta Singh Devaa
ब्रह्म निर्णय
DR ARUN KUMAR SHASTRI
एक दुखियारी माँ
DESH RAJ
पर्यावरण दिवस
Ram Krishan Rastogi
हक़ीक़त न पूछिये मुफलिसी के दर्द की।
Dr fauzia Naseem shad
यादें
Sidhant Sharma
"सुनो एक सैर पर चलते है"
Lohit Tamta
फरियाद
Anamika Singh
गुरू
rubichetanshukla रुबी चेतन शुक्ला
👌स्वयंभू सर्वशक्तिमान👌
DR ARUN KUMAR SHASTRI
बाज़ी
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
*उगता सूरज देखकर (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
# पर_सनम_तुझे_क्या
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
✍️पैरो तले ज़मी✍️
"अशांत" शेखर
Loading...