Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#22 Trending Author
Jun 28, 2022 · 1 min read

नहीं, अब ऐसा नहीं होगा

करूँगा नहीं अब यह कोशिश,
कि फैले कोई ऐसी चर्चा,
उस गली या उस शहर में,
जहाँ है तेरा मकान,
जहाँ से निकलता हूँ मैं,
रोज देखने को तेरा चेहरा।

नहीं, अब ऐसा नहीं होगा,
कि उड़े गर्द उस राह में,
जिससे हो तकलीफ तुमको,
दम लेने और निकलने में,
जहाँ से है रोज निकलना तेरा।

भरूँगा नहीं अब यह दम,
कि ठेस पहुंचे तुम्हारे विश्वास को,
और नहीं रहे तुमको मुझपे भरोसा,
जिस पर पछताना पड़े मुझको भी,
और दिखा नहीं सकूँ तुमको अपना चेहरा।

नहीं, अब नहीं होगी वह गलती,
कि बहे आँसू तेरी आँखों से,
और टूट जाये तुम्हारे सपनें,
चला जाये चैन तुम्हारे दिल का,
और माफ नहीं कर मुझको भगवान भी।

जिन शब्दों से हो तुमसे तकलीफ,
जिन शरारतों से तुम्हारी बदनामी,
जिन हरकतों से हो तुम्हारी बर्बादी,
जिस मजाक से हो तुम्हारा अपमान,
नहीं, अब ऐसा नहीं होगा।

शिक्षक एवं साहित्यकार-
गुरुदीन वर्मा उर्फ जी.आज़ाद
तहसील एवं जिला- बारां(राजस्थान)
मोबाईल नम्बर- 9571070847

56 Views
You may also like:
# मां ...
Chinta netam " मन "
गम देके।
Taj Mohammad
मां क्यों निष्ठुर?
Saraswati Bajpai
फेहरिस्त।
Taj Mohammad
बाबासाहेब 'अंबेडकर '
Buddha Prakash
किसी को भूल कर
Dr fauzia Naseem shad
✍️कैद ✍️
Vaishnavi Gupta
तूँ ही गजल तूँ ही नज़्म तूँ ही तराना है...
VINOD KUMAR CHAUHAN
हवा के झोंको में जुल्फें बिखर जाती हैं
VINOD KUMAR CHAUHAN
साहब का कुत्ता (हास्य व्यंग्य कहानी)
दुष्यन्त 'बाबा'
मां
Umender kumar
✍️✍️जिंदगी✍️✍️
'अशांत' शेखर
#रिश्ते फूलों जैसे
आर.एस. 'प्रीतम'
गँवईयत अच्छी लगी
सिद्धार्थ गोरखपुरी
प्यार तुम्हीं पर लुटा दूँगा।
Buddha Prakash
प्रेयसी
Dr. Sunita Singh
मदहोश रहे सदा।
Taj Mohammad
जब चलती पुरवइया बयार
श्री रमण 'श्रीपद्'
तुमसे इश्क कर रहे हैं।
Taj Mohammad
“ অখনো মিথিলা কানি রহল ”
DrLakshman Jha Parimal
मैं वफ़ा हूँ अपने वादे पर
gurudeenverma198
✍️चराग बुझा गयी✍️
'अशांत' शेखर
भारत भाषा हिन्दी
शेख़ जाफ़र खान
थियोसॉफी की कुंजिका (द की टू थियोस्फी)* *लेखिका : एच.पी....
Ravi Prakash
गंगा अवतरण
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
आरजू
Anamika Singh
ग़ज़ल- राना सवाल रखता है
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
उम्मीद नही छोड़ते है ये बच्चे
Anamika Singh
मुझसे बचकर वह अब जायेगा कहां
Ram Krishan Rastogi
श्री अग्रसेन भागवत ः पुस्तक समीक्षा
Ravi Prakash
Loading...