Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#19 Trending Author

नशीली नजर

* नशीली नजर (गजल) *
**** 221 221 22 ***
********************

मय सी नशीली नजर है,
दिखता नशे का असर है।

आँखें पिलाती सुरा को,
खुद की नहीं कुछ खबर है।

तुम हो बनी दीप की लौ,
जीवन हुआ अब अमर है।

कण कण लहू में समाया,
हर पल सुहाना सफर है।

खुश हो गया है बुझा मन,
छोड़ी न बाकी कसर है।

जादू बिखेरा जहां पर,
है हर तरह तम पसर है।

सूरत गजब अजब सीरत,
हिय में बहुत ही कदर है।
********************
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
खेड़ी राओ वाली (कैथल)

140 Views
You may also like:
शुभ मुहूर्त
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
मैंने देखा हैं मौसम को बदलतें हुए
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
फर्क पिज्जा में औ'र निवाले में।
सत्य कुमार प्रेमी
में हूं हिन्दुस्तान
Irshad Aatif
चाहतें है राहतें है।
Taj Mohammad
✍️मैं जब पी लेता हूँ✍️
"अशांत" शेखर
बचपन भी कहीं खो गया है।
Taj Mohammad
ग़ज़ल
Mahendra Narayan
आंखों पर लिखे अशआर
Dr fauzia Naseem shad
होली कान्हा संग
Kanchan Khanna
My Expressions
Shyam Sundar Subramanian
अभिलाषा
Anamika Singh
मुक्तक: युद्ध को विराम दो.!
Prabhudayal Raniwal
कबीर साहेब की शिक्षाएं
vikash Kumar Nidan
“ अरुणांचल प्रदेशक “ सेला टॉप” “
DrLakshman Jha Parimal
✍️महज़ बातें ✍️
Vaishnavi Gupta
✍️ग़लतफ़हमी✍️
"अशांत" शेखर
नैय्या की पतवार
DESH RAJ
A cup of tea ☕
Buddha Prakash
सच को सच
Dr fauzia Naseem shad
परेशां हूं बहुत।
Taj Mohammad
ग्रह और शरीर
Vikas Sharma'Shivaaya'
रिंगटोन
पूनम झा 'प्रथमा'
तेरी खैर मांगता हूं।
Taj Mohammad
बेचैन कागज
Dr Meenu Poonia
कोई चाहने वाला होता।
Taj Mohammad
वह माँ नही हो सकती
Anamika Singh
💐 हे तात नमन है तुमको 💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
रामकथा की अविरल धारा श्री राधे श्याम द्विवेदी रामायणी जी...
Ravi Prakash
फिर झूम के आया सावन
Vishnu Prasad 'panchotiya'
Loading...