Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

नशा……………..४

नशा……………..४

नशा जवानी का अक्सर होश खो देता है
अच्छे – बुरे मे फर्क कि समझ खो देता है
भटक जाता इस उम्र में युवा जीवन पथ से
बहकर रवानी की लहर मे मंजिल खो देता है ।।



डी. के. निवातियॉ___________@

1 Like · 1 Comment · 120 Views
You may also like:
हर दिन इसी तरह
gurudeenverma198
भारतवर्ष
Utsav Kumar Aarya
जिन्दगी रो पड़ी है।
Taj Mohammad
ये जमीं आसमां।
Taj Mohammad
हो दर्दे दिल तो हाले दिल सुनाया भी नहीं जाता।
सत्य कुमार प्रेमी
बाबू जी
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
✍️आव्हान✍️
"अशांत" शेखर
दुखो की नैया
AMRESH KUMAR VERMA
प्यार का अलख
DESH RAJ
جانے کہاں وہ دن گئے فصل بہار کے
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
हंँसना तुम सीखो ।
Buddha Prakash
आईना झूठ लगे
VINOD KUMAR CHAUHAN
🍀प्रेम की राह पर-55🍀
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
अति का अंत
AMRESH KUMAR VERMA
भारत
Vijaykumar Gundal
आज कुछ ऐसा लिखो
Saraswati Bajpai
आईना हूं सब सच ही बताऊंगा।
Taj Mohammad
✍️✍️ठोकर✍️✍️
"अशांत" शेखर
दिले यार ना मिलते हैं।
Taj Mohammad
The Journey of this heartbeat.
Manisha Manjari
मां ने।
Taj Mohammad
उन्हें आज वृद्धाश्रम छोड़ आये
Manisha Manjari
यह सूखे होंठ समंदर की मेहरबानी है
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
भारतीय संस्कृति के सेतु आदि शंकराचार्य
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
भगवान परशुराम
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
मैं तो सड़क हूँ,...
मनोज कर्ण
परी
Alok Saxena
जब चलती पुरवइया बयार
श्री रमण
अनोखी सीख
DESH RAJ
हमलोग
Dr.sima
Loading...