Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
25 Aug 2022 · 1 min read

नदी सा प्यार

मैं भी बह रहा था झरने के जैसे
तू भी बह रहा था झरने के जैसे
मिले आज जो हम लग रहा है
बन गए है हम एक नदी के जैसे

हो गई है पहचान एक हमारी
है अब तो एक ही तक़दीर हमारी
साथ ही चलना है हर कदम पर
सागर में मिलना है मंज़िल हमारी

तेरे इस प्यार ने ही नदी बनाया है
इस झरने को नया जीवन दिया है
चलती रहे ये प्यार की नदी यूं ही
जिसके लिए झरने ने खुद को मिटा दिया है

न तू तू रहा न मैं मैं रहा
छोड़ो सोचना क्या छूट गया
तू भी उसी सांचे में और
मैं भी उसी सांचे में ढल गया

पहचान हो गई एक हमारी
ज़िंदगी अब बदल गई हमारी
साथ रहकर हर परिस्थिति में
कटेगी अब ये ज़िंदगी हमारी

मिले प्यार ऐसा ही जीवन में सबको
कहीं कोई अलग न हो जाए नदी की धारा
तू और मैं को हम बनाया जो प्यार ने
अब हम बनकर ही कटे हमारा जीवन सारा

जब झरने मिले तो नदी बने वो
है दुआ नदी सा प्यार मिले सबको
हो समंदर तक सफर साथ साथ
है दुआ, ऐसा प्यार मिले सबको।

Language: Hindi
12 Likes · 745 Views
You may also like:
सीख
Anamika Singh
जमी हुई धूल
Johnny Ahmed 'क़ैस'
गजल
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
साजिशों की छाँव में...
मनोज कर्ण
आप जैंसे नेता ही,देश को आगे ले जाएंगे
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
हम और तुम जैसे…..
Rekha Drolia
दिल भटका मुसाफिर है।
Taj Mohammad
खेसारी लाल बानी
Ranjeet Kumar
माखन चोर
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
" वर्ष 2023 धमाकेदार होगा बालीवुड बाक्स आफ़िस के लिए...
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
विरह का सिरा
Rashmi Sanjay
गनर यज्ञ (हास्य-व्यंग)
दुष्यन्त 'बाबा'
My Expressions
Shyam Sundar Subramanian
✍️गलत बात है ✍️
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
जब भी देखा है दूर से देखा
Anis Shah
जो मैंने देखा...
पीयूष धामी
क्या मुझे हिफ़्ज़
Dr fauzia Naseem shad
अब न पछताओगी तुम हमसे मिलके
Ram Krishan Rastogi
जब तुमने सहर्ष स्वीकारा है!
ज्ञानीचोर ज्ञानीचोर
वरदान या अभिशाप फोन
AMRESH KUMAR VERMA
परिवाद झगड़े
ईश्वर दयाल गोस्वामी
कैसी तेरी खुदगर्जी है
Kavita Chouhan
✍️ये आज़माईश कैसी?✍️
'अशांत' शेखर
"दोस्त"
Lohit Tamta
" शरारती बूंद "
Dr Meenu Poonia
अष्टांग मार्ग गीत
Buddha Prakash
*फ्रेंचाइजी मिठाई की दुकान की ली जाए या स्कूल की...
Ravi Prakash
💐💐प्रेम की राह पर-21💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
चोरी चोरी छुपके छुपके
gurudeenverma198
ये कैसी दीवाली है?
Shekhar Chandra Mitra
Loading...