Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
9 Mar 2023 · 1 min read

💐प्रेम कौतुक-383💐

नज़रों के समुंदर में समाना हो तो आ जाना,
फ़क़त मुलाकात ग़र निभानी हो तो आ जाना,
दौलत तो हैं मेरी उनके दिल में छिपी तमन्नाएँ,
इन्हें किसी अंजाम तक पहुँचाना हो तो आ जाना।

©®अभिषेक: पाराशरः “आनन्द”

Language: Hindi
59 Views
Join our official announcements group on Whatsapp & get all the major updates from Sahityapedia directly on Whatsapp.
You may also like:
हो भासा विग्यानी।
हो भासा विग्यानी।
Acharya Rama Nand Mandal
द्वितीय ब्रह्मचारिणी
द्वितीय ब्रह्मचारिणी
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
नियोजित शिक्षक का भविष्य
नियोजित शिक्षक का भविष्य
Sahil
"मेरी नयी स्कूटी"
Dr Meenu Poonia
रिश्ते रिसते रिसते रिस गए।
रिश्ते रिसते रिसते रिस गए।
Vindhya Prakash Mishra
हालत खराब है
हालत खराब है
Shekhar Chandra Mitra
जगमगाती चाँदनी है इस शहर में
जगमगाती चाँदनी है इस शहर में
Dr Archana Gupta
प्रणय 2
प्रणय 2
Ankita Patel
मेरी माँ तू प्यारी माँ
मेरी माँ तू प्यारी माँ
Vishnu Prasad 'panchotiya'
स्वयं का न उपहास करो तुम , स्वाभिमान की राह वरो तुम
स्वयं का न उपहास करो तुम , स्वाभिमान की राह वरो तुम
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
💐अज्ञात के प्रति-124💐
💐अज्ञात के प्रति-124💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
Sunny Yadav - Actor & Model
Sunny Yadav - Actor & Model
Sunny Yadav
ख्वाब आँखों में सजा कर,
ख्वाब आँखों में सजा कर,
लक्ष्मी सिंह
पिंजरे के पंछी को उड़ने दो
पिंजरे के पंछी को उड़ने दो
Dr Nisha nandini Bhartiya
समय का एक ही पल किसी के लिए सुख , किसी के लिए दुख , किसी के
समय का एक ही पल किसी के लिए सुख , किसी के लिए दुख , किसी के
Seema Verma
नेह का दीपक
नेह का दीपक
Arti Bhadauria
हुस्न वालों से ना पूछो गुरूर कितना है ।
हुस्न वालों से ना पूछो गुरूर कितना है ।
Prabhu Nath Chaturvedi
दलाल ही दलाल (हास्य कविता)
दलाल ही दलाल (हास्य कविता)
Dr. Kishan Karigar
2299.पूर्णिका
2299.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
दूसरे दर्जे का आदमी
दूसरे दर्जे का आदमी
Jeewan Singh 'जीवनसवारो'
मैने नहीं बुलाए
मैने नहीं बुलाए
Dr. Meenakshi Sharma
स्वयं का बैरी
स्वयं का बैरी
Dr fauzia Naseem shad
सॉप और इंसान
सॉप और इंसान
Prakash Chandra
ग़ज़ल - इश्क़ है
ग़ज़ल - इश्क़ है
Mahendra Narayan
सैदखन यी मन उदास रहैय...
सैदखन यी मन उदास रहैय...
Ram Babu Mandal
"कीचड़" में केवल
*Author प्रणय प्रभात*
ख़्वाबों से हकीकत का सफर- पुस्तक लोकार्पण समारोह
ख़्वाबों से हकीकत का सफर- पुस्तक लोकार्पण समारोह
Sahityapedia
अधीर मन खड़ा हुआ  कक्ष,
अधीर मन खड़ा हुआ कक्ष,
Nanki Patre
*तुम्हारे चाहने वाले,हमेशा तुमको चाहेंगे (आध्यात्मिक हिंदी गजल/ गीतिका)*
*तुम्हारे चाहने वाले,हमेशा तुमको चाहेंगे (आध्यात्मिक हिंदी गजल/ गीतिका)*
Ravi Prakash
मेरी बेटी मेरा अभिमान
मेरी बेटी मेरा अभिमान
Dr. Pradeep Kumar Sharma
Loading...