Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#23 Trending Author

धूप कड़ी कर दी

उसने कुछ इस तरह से मुश्किल बड़ी कर दी
के मैं धूप में निकला तो उसने धूप कड़ी कर दी
– सिद्धार्थ गोरखपुरी

75 Views
You may also like:
लोभ
AMRESH KUMAR VERMA
मांँ की लालटेन
श्री रमण
कभी कभी।
Taj Mohammad
धीरे-धीरे कदम बढ़ाना
Anamika Singh
अग्नि पथ के अग्निवीर
Anamika Singh
संघर्ष
Rakesh Pathak Kathara
कौन कहता कि स्वाधीन निज देश है?
Pt. Brajesh Kumar Nayak
बाल श्रम विरोधी
Utsav Kumar Aarya
अल्फाज़ हैं शिफा से।
Taj Mohammad
किसी को गिराया नहीं मैनें।
Taj Mohammad
✍️वो उड़ते रहता है✍️
"अशांत" शेखर
शब्द बिन, नि:शब्द होते,दिख रहे, संबंध जग में।
संजीव शुक्ल 'सचिन'
फिर कभी तुम्हें मैं चाहकर देखूंगा.............
Nasib Sabharwal
दिलदार आना बाकी है
Jatashankar Prajapati
खूबसूरत एहसास.......
Dr. Alpa H. Amin
भगवान हमारे पापा हैं
Lucky Rajesh
नन्हें फूलों की नादानियाँ
DESH RAJ
# मां ...
Chinta netam " मन "
काँच के रिश्ते ( दोहा संग्रह)
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
माँ
Dr Archana Gupta
मानव तन
Rakesh Pathak Kathara
✍️मोहसुख✍️
"अशांत" शेखर
//स्वागत है:२०२२//
Prabhudayal Raniwal
तुम कहते हो।
Taj Mohammad
आईना हूं सब सच ही बताऊंगा।
Taj Mohammad
दो शरारती गुड़िया
Prabhudayal Raniwal
हंस है सच्चा मोती
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
स्वर कोकिला
AMRESH KUMAR VERMA
मन बस्या राम
हरीश सुवासिया
युद्ध सिर्फ प्रश्न खड़ा करता है [भाग२]
Anamika Singh
Loading...