Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 11, 2021 · 1 min read

धरती की अब प्यास —– (बरसात — गीत)

*************गीत************
बह रही है हवा सुहानी, बरखा रानी बरसेगी।
धरती की अब प्यास बुझेगी, बीरहन भी न तरसेगी।।
धरती की अब प्यास —————————- तरसेगी।।
(१)
कारे कजरारे मेघो ने,
दस्तक देना शुरू किया।
तपती भीषण गर्मी ने तो,
जाने का मन बना लिया।।
जुटे हुए है कृषक खेत में, फसलें जमी से उपजेगी।
धरती की अब प्यास ————————— तरसेगी।।
(२)
साजन सजनी संग में होंगे,
झरते हुए इस सावन में।
झरने बहेंगे नदी ताल सब,
झूले डालेंगे बागन में।।
नेह बहेगा हर कोई कहेगा,”बरसात” तो ऐसी बरसेगी।।
धरती की अब प्यास ——————- तरसेगी।।
(३)
हम भी भीगे तुम भी भीगो,
छोड़ के सारी चिंताएं।
लगी बरसने रिमझिम रिमझिम,
नीर भरी यह सारी घटाएं।।
पीर मिटा के प्यार लुटा दो, “अनुनय” प्रीत ही बरसेगी।
धरती की अब प्यास ———————- तरसेगी।।
राजेश व्यास अनुनय
8823815691

7 Likes · 10 Comments · 329 Views
You may also like:
बहन का जन्मदिन
Khushboo Khatoon
पत्थर दिल।
Taj Mohammad
हमलोग
Dr.sima
"बदलाव की बयार"
Ajit Kumar "Karn"
✍️कसम खुदा की..!✍️
'अशांत' शेखर
रक्षा के पावन बंधन का, अमर प्रेम त्यौहार
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
तुम्हीं तो हो ,तुम्हीं हो
Dr.sima
हाय रे ये क्या हुआ
DR ARUN KUMAR SHASTRI
सुन्दर घर
Buddha Prakash
Once Again You Visited My Dream Town
Manisha Manjari
शहीदों के नाम
Sahil
जब सावन का मौसम आता
लक्ष्मी सिंह
घर घर तिरंगा फहराएंगे
Ram Krishan Rastogi
आंख ऊपर न उठी...
Shivkumar Bilagrami
मोहब्बत की दर्द- ए- दास्ताँ
Jyoti Khari
समय ।
Kanchan sarda Malu
पिता के होते कितने ही रूप।
Taj Mohammad
चेहरा
शिव प्रताप लोधी
तरसती रहोगी एक झलक पाने को
N.ksahu0007@writer
नफरत है मुझे
shabina. Naaz
शुभ मुहूर्त
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
धरती अंवर एक हो गए, प्रेम पगे सावन में
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
महापंडित ठाकुर टीकाराम 18वीं सदीमे वैद्यनाथ मंदिर के प्रधान पुरोहित
श्रीहर्ष आचार्य
غزل - دینے والے نے ہمیں درد بھائی کم نہ...
Shivkumar Bilagrami
नैन अपने
Dr fauzia Naseem shad
संताप
ओनिका सेतिया 'अनु '
इस तरहां ऐसा स्वप्न देखकर
gurudeenverma198
हर अश्क कह रहा है।
Taj Mohammad
आप कौन से मुसलमान है भाई ?
ओनिका सेतिया 'अनु '
✍️ मसला क्यूँ है ?✍️
'अशांत' शेखर
Loading...