Oct 17, 2016 · 1 min read

दोहे

दिल सम्हाल कर राखिए,ना जाये यह टूट।
दिल बिन प्रेम में ना उपजै,प्रेम बिन सब सून॥

तन मन बाबरौ भयो,देख तेरी सरलताई।
आगे आगे क्या होतहै,जै तुझे समझाई॥

फूक फूक पग राखिए,बड़ा विकट काल।
जो ना सभाले आपनो,वही होवे हलाल ॥

देख जगत की कुटिलता,पडा पड़ा थर्राए।
डूब मर चुल्लु जल में,जब काज ना हो पाए॥

रूखी सूखी खाईए,देख ना चूपडी ललचाए।
बाल ना बाका छोड़िए ,सिर ऊपर पानी आए॥

देख चेहरे की मुसकान,कमलिनी भी लजाए।
धीरे धीरे हिय बस आए,कितकू ना जाने पाए॥

दो बूँद प्रेम जल पीवत,जीवन सफल कर जाए ।
प्रेम महिमा गावत अनन्त,जीवन सफल हो जाए॥

73 Likes · 217 Views
You may also like:
ये ख्वाब न होते तो क्या होता?
सिद्धार्थ गोरखपुरी
"सुनो एक सैर पर चलते है"
Lohit Tamta
【25】 *!* विकृत विचार *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
मौन में गूंजते शब्द
Manisha Manjari
माफी मैं नहीं मांगता
gurudeenverma198
बस करो अब मत तड़फाओ ना
Krishan Singh
💐प्रेम की राह पर-26💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
पिता कुछ भी कर जाता है।
Taj Mohammad
हम आ जायेंगें।
Taj Mohammad
यकीन
Vikas Sharma'Shivaaya'
!!! राम कथा काव्य !!!
जगदीश लववंशी
बरसात की छतरी
Buddha Prakash
महंगाई के दोहे
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
*मन या तन *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
💐💐प्रेम की राह पर-15💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
हस्यव्यंग (बुरी नज़र)
N.ksahu0007@writer
दुनियाँ की भीड़ में।
Taj Mohammad
प्रार्थना
Anamika Singh
माँ, हर बचपन का भगवान
Pt. Brajesh Kumar Nayak
जिंदगी जब भी भ्रम का जाल बिछाती है।
Manisha Manjari
💐प्रेम की राह पर-27💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
* बेकस मौजू *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
मां तो मां होती है ( मातृ दिवस पर विशेष)
ओनिका सेतिया 'अनु '
बिल्ली हारी
Jatashankar Prajapati
बद्दुआ।
Taj Mohammad
💐💐प्रेम की राह पर-21💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
बेपनाह गम था।
Taj Mohammad
बेटी का पत्र माँ के नाम (भाग २)
Anamika Singh
ग़ज़ल
Nityanand Vajpayee
प्रिय सुनो!
Shailendra Aseem
Loading...