Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

दोहे

************** दोहे ***************
*********************************

बुरी बात का हो सदा,चहुँ ओर प्रतिवाद ।
अच्छे जन के साथ का ,मिलता है प्रसाद ।।

रोज भक्ति आह्वान से,मिलती जग से मुक्ति ।
धन-माया-मोह-लोभ से,आजाद करे युक्ति ।।

रंक -दुखी-लाचार का,कभी न करो दुत्कार।
मौका है अनुदान कर, सदैव करो सत्कार।।

नेपथ्य में शोर हुआ , आई है आवाज।
बुरा वक्त है टल गया, नया करो आगाज।।

हरी मिर्च के खेत मे , तीखी तीखी महक।
तोड़ कर अगर खा गए,मुँह जाएगा दहक।।
**********************************
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
खेड़ी राओ वाली (कैथल(

162 Views
You may also like:
अनोखा गुलाब (“माँ भारती ”)
DESH RAJ
ईद हो जायेगी।
Taj Mohammad
शिकायत कुछ नहीं
Dr fauzia Naseem shad
कर्म करो
Anamika Singh
जान से प्यारा तिरंगा
डॉ. शिव लहरी
पिता का दर्द
Nitu Sah
क्षणिकायें-पर्यावरण चिंतन
राजेश 'ललित'
✍️मेरी कलम...✍️
'अशांत' शेखर
✍️अजनबी की तरह...!✍️
'अशांत' शेखर
जोशवान मनुष्य
AMRESH KUMAR VERMA
विसर्जन
Saraswati Bajpai
अपने दिल को।
Taj Mohammad
बरगद का पेड़
Manu Vashistha
यादों की बारिश का कोई
Dr fauzia Naseem shad
✍️वो क्यूँ जला करे.?✍️
'अशांत' शेखर
ब्रेक अप
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
मैं हूँ किसान।
Anamika Singh
प्रेम चिन्ह
sangeeta beniwal
कोहिनूर
Dr.sima
# बारिश का मौसम .....
Chinta netam " मन "
अपना राह तुम खुद बनाओ
Anamika Singh
कुछ अल्फाज़ खरे ना उतरते हैं।
Taj Mohammad
कोई तो जाके उसे मेरे दिल का हाल समझाये...!!
Ravi Malviya
ऐ जाने वफ़ा मेरी हम तुझपे ही मरते हैं।
सत्य कुमार प्रेमी
जय जगजननी ! मातु भवानी(भगवती गीत)
मनोज कर्ण
मन की पीड़ा
Dr fauzia Naseem shad
गम तारी है।
Taj Mohammad
राजनीति ओछी है लोकतंत्र आहत हैं।
सत्य कुमार प्रेमी
मैं बेटी हूँ।
Anamika Singh
पितृ स्वरूपा,हे विधाता..!
मनोज कर्ण
Loading...