May 31, 2021 · 1 min read

दोस्ती

न कोई शर्त कोई काम ना, बेतकल्लुफ़ सब है

मियां है नाम कई इसके, पर सब बेमतलब है

दोस्ती चीज़ ही ऐसी है मिले वो जाने ,

दिल ने दिल का पता भी दिल के लिए पूंछा कब है

2 Comments · 134 Views
You may also like:
💐प्रेम की राह पर-32💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
पिता भगवान का अवतार होता है।
Taj Mohammad
मेरी भोली ''माँ''
पाण्डेय चिदानन्द
सिया
सिद्धार्थ गोरखपुरी
💐💐प्रेम की राह पर-11💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
*माँ छिन्नमस्तिका 【कुंडलिया】*
Ravi Prakash
जिन्दगी है हमसे रूठी।
Taj Mohammad
आपातकाल
Shriyansh Gupta
अभी दुआ में हूं बद्दुआ ना दो।
Taj Mohammad
कारस्तानी
Alok Saxena
आ जाओ राम।
Anamika Singh
हनुमान जयंती पर कुछ मुक्तक
Ram Krishan Rastogi
लड़ते रहो
Vivek Pandey
ज़माने की नज़र से।
Taj Mohammad
सतुआन
डा. सूर्यनारायण पाण्डेय
श्रद्धा और सबुरी ....,
Vikas Sharma'Shivaaya'
A wise man 'The Ambedkar'
Buddha Prakash
तुम जो मिल गई हो।
Taj Mohammad
गर हमको पता होता।
Taj Mohammad
मिसाइल मैन
Anamika Singh
ज़िन्दगी की धूप...
Dr. Alpa H.
कलियों को फूल बनते देखा है।
Taj Mohammad
आज फिर
Rashmi Sanjay
ग़म-ए-दिल....
Aditya Prakash
तरसती रहोगी एक झलक पाने को
N.ksahu0007@writer
मुक्तक
Ranjeet Kumar
युद्ध सिर्फ प्रश्न खड़ा करता है [भाग४]
Anamika Singh
🌷🍀प्रेम की राह पर-49🍀🌷
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
दिल्ली की कहानी मेरी जुबानी [हास्य व्यंग्य! ]
Anamika Singh
मैं हो गई पराई.....
Dr. Alpa H.
Loading...