Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#7 Trending Author
Oct 19, 2016 · 1 min read

देश -परदेश

छोड़ के देश परदेश तू क्यों चला
नोट की चाह में तू जुदा हो चला
रोज अपनी भूमि को करे याद वो
छोड़ यह देश नूतन जहाँ को चला

70 Likes · 344 Views
You may also like:
“पिया” तुम बिन
DESH RAJ
✍️"अग्निपथ-३"...!✍️
"अशांत" शेखर
खड़ा बाँस का झुरमुट एक
Vishnu Prasad 'panchotiya'
पापा
सेजल गोस्वामी
युवकों का निर्माण चाहिए
Pt. Brajesh Kumar Nayak
लिखे आज तक
सिद्धार्थ गोरखपुरी
अपना भारत देश महान है।
Taj Mohammad
*** वीरता
Prabhavari Jha
✍️टिकमार्क✍️
"अशांत" शेखर
फास्ट फूड
AMRESH KUMAR VERMA
जुल्म की इन्तहा
DESH RAJ
आस्था और भक्ति
Dr. Alpa H. Amin
.✍️कबीर-मुर्शिद मेरा✍️
"अशांत" शेखर
आजमाइशें।
Taj Mohammad
“ मेरे राम ”
DESH RAJ
हनुमंता
Dhirendra Panchal
(स्वतंत्रता की रक्षा)
Prabhudayal Raniwal
“ कोरोना ”
DESH RAJ
रामलीला
VINOD KUMAR CHAUHAN
आतुरता
अंजनीत निज्जर
कुछ कर गुज़र।
Taj Mohammad
" एक हद के बाद"
rubichetanshukla रुबी चेतन शुक्ला
1-अश्म पर यह तेरा नाम मैंने लिखा2- अश्म पर मेरा...
Pt. Brajesh Kumar Nayak
मेरे पापा।
Taj Mohammad
✍️मेरा जिक्र हुवा✍️
"अशांत" शेखर
मेघो से प्रार्थना
Ram Krishan Rastogi
جانے کہاں وہ دن گئے فصل بہار کے
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
भारतवर्ष
AMRESH KUMAR VERMA
✍️✍️व्यवस्था✍️✍️
"अशांत" शेखर
नियमित बनाम नियोजित(मरणशील बनाम प्रगतिशील)
Sahil
Loading...