Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
9 Oct 2021 · 1 min read

🙏देवी चंद्रघंटा🙏

“देवी चंद्रघंटा”
****🙏****

हे माता ‘जगदम्बे’, हे ‘चित्तरूपा’;
तू है,मां दुर्गा की तीसरी स्वरूपा;
माथे पर तेरे, अर्द्धचंद्र सुशोभित;
दैत्य,दानव तूझसे रहे विक्षोभित;
तू ही कहलाती मां, देवी चंद्रघंटा;
हर भक्त,संकट में करे तेरी पुकार;
दैत्य-दानव भागे,ना ही शत्रु जागे;
सुनकर तेरे,भव्य घण्टे की टंकार;
हे पर्वतात्मजा, हे त्रिभुवनसुन्दरी;
कांतियुक्त, स्वर्णरंग है तेरी काया;
है माता तुम , सदा बहुभुजा धारी;
करती तुम सदा, सिंह की सवारी;
शिवसुंदरी बनने को,तू महामाया;
शंकर को तूने, राजकुमार बनाया;
हरेक के,अप्रिय यादों को मिटाया;
फिर तूने, शिव को पतिरूप पाया;
दनुज व मनुज की रक्षा करती तू;
शांति-क्षमा देवी, सौम्या बनती तू;
तू हर अस्त्र-शस्त्र से है सुसज्जित;
सबको, मनवांछित फल देनेवाली;
सत्यानंदस्वरूपणी, सुंदरी अनंता;
तू अनेकास्त्रधारिणी,देवी चंद्रघंटा;
जय हो , सुरसुंदरी मां भवानी की;
बोलो सब,जय जय मातारानी की।
************🙏************

स्वरचित सह मौलिक;
……✍️पंकज ‘कर्ण’
…………कटिहार।।
तिथि: ०९/१०/२०२१

Language: Hindi
Tag: कविता
6 Likes · 4 Comments · 730 Views
You may also like:
अष्टांग मार्ग गीत
अष्टांग मार्ग गीत
Buddha Prakash
We host the flag of HINDI FESTIVAL but send our kids to an E
We host the flag of HINDI FESTIVAL but send our...
DrLakshman Jha Parimal
संत नरसी (नरसिंह) मेहता
संत नरसी (नरसिंह) मेहता
Pravesh Shinde
💐प्रेम कौतुक-157💐
💐प्रेम कौतुक-157💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
தனிமை
தனிமை
Shyam Sundar Subramanian
विचारधारा
विचारधारा
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
दीपक
दीपक
MSW Sunil SainiCENA
नित नए संघर्ष करो (मजदूर दिवस)
नित नए संघर्ष करो (मजदूर दिवस)
श्री रमण 'श्रीपद्'
बगिया का गुलाब प्यारा...
बगिया का गुलाब प्यारा...
मनमोहन लाल गुप्ता 'अंजुम'
आस्तीक भाग-दो
आस्तीक भाग-दो
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
कर्तव्यपथ
कर्तव्यपथ
जगदीश शर्मा सहज
नगर से दूर......
नगर से दूर......
Kavita Chouhan
चापलूसी का ईनाम
चापलूसी का ईनाम
Shekhar Chandra Mitra
* तिस लाग री *
* तिस लाग री *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
तू भी तो
तू भी तो
gurudeenverma198
*खुशी उसकी मनाने से (मुक्तक)*
*खुशी उसकी मनाने से (मुक्तक)*
Ravi Prakash
JHIJHIYA DANCE IS A FOLK DANCE OF YADAV COMMUNITY
JHIJHIYA DANCE IS A FOLK DANCE OF YADAV COMMUNITY
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
■ सब त्रिकालदर्शी
■ सब त्रिकालदर्शी
*Author प्रणय प्रभात*
बड़े हो गए नहीं है शिशुपन,
बड़े हो गए नहीं है शिशुपन,
Satish Srijan
बर्बादी की दुआ कर गए।
बर्बादी की दुआ कर गए।
Taj Mohammad
चली चली रे रेलगाड़ी
चली चली रे रेलगाड़ी
Ashish Kumar
खिचड़ी,तिल अरु वस्त्र का, करो हृदय से दान
खिचड़ी,तिल अरु वस्त्र का, करो हृदय से दान
Dr Archana Gupta
★आईने में वो शख्स★
★आईने में वो शख्स★
★ IPS KAMAL THAKUR ★
"यादों के अवशेष"
Dr. Kishan tandon kranti
थकते नहीं हो क्या
थकते नहीं हो क्या
सूर्यकांत द्विवेदी
कुछ चंद लोंगो ने कहा है कि
कुछ चंद लोंगो ने कहा है कि
सुनील कुमार
योगी है जरूरी
योगी है जरूरी
Tarang Shukla
ऐसी थी बे'ख़याली
ऐसी थी बे'ख़याली
Dr fauzia Naseem shad
जीवन
जीवन
लक्ष्मी सिंह
Sometimes you shut up not
Sometimes you shut up not
Vandana maurya
Loading...