Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 21, 2022 · 1 min read

दुनिया

वो बेरोजगारी के ख्वाबों की दुनिया
लरजते सिसकते इरादों की दुनिया

वो सांसे थी अंतिम ये जीवन शुरू था
धुएं से भरी थी बुरादों की दुनिया

ना पूछो कि किससे जुदा हो गई हूँ
थी पलकों पे मेरी मुरादों की दुनिया ।

वो मेवों भरी मुट्ठियां मां के घर में
जुदा थी वो ममता के स्वादों की दुनिया

थे उत्तर हरेक प्रश्न के तब वहीं पर
वो कमसिन जवां सिन-दराजों की दुनिया

थे अलमस्त मौसम में खोये हुए हम
नरम दिल से अल्हड़ नवाबों की दुनिया ।

कभी कौंध जाती है दिल के मकां में
गुलों को छुपाए दराजों की दुनिया

बड़ा दृढ़ था रिश्ता खुदी का खुदी से
वो बेखौफ –बेढ्ब इरादों की दुनिया ।

था तूफां भयानक लहर पर बची थी
थे सागर पे जलते चरागों की दुनिया ।

स्वरचित
रश्मि लहर
लखनऊ

1 Like · 2 Comments · 64 Views
You may also like:
बे-इंतिहा मोहब्बत करते हैं तुमसे
VINOD KUMAR CHAUHAN
किंकर्तव्यविमूढ़
Shyam Sundar Subramanian
'इरशाद'
Godambari Negi
हौसला खुद को
Dr fauzia Naseem shad
✍️कांटने लगते है घर✍️
'अशांत' शेखर
जाति- पाति, भेद- भाव
AMRESH KUMAR VERMA
"अरे ओ मानव"
Dr Meenu Poonia
*हनुमान धाम-यात्रा*
Ravi Prakash
कलम नही लिख पाया
Anamika Singh
यौवन अतिशय ज्ञान-तेजमय हो, ऐसा विज्ञान चाहिए
Pt. Brajesh Kumar Nayak
कन्यादान लिखना भी कहानी हो गई
VINOD KUMAR CHAUHAN
जिनकी नज़र में
Dr fauzia Naseem shad
शमा से...!!!
Kanchan Khanna
"जटा"कलम को छोड़
Jatashankar Prajapati
चामर छंद "मुरलीधर छवि"
बासुदेव अग्रवाल 'नमन'
पिता
अवध किशोर 'अवधू'
अजब रिकार्ड
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
नरसिंह अवतार
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
✍️प्रकृति के नियम✍️
'अशांत' शेखर
कुंडलियां छंद (7)आया मौसम
Pakhi Jain
✍️✍️जरी ही...!✍️✍️
'अशांत' शेखर
इनक मोतियो का
shabina. Naaz
“ মাছ ভেল জঞ্জাল ”
DrLakshman Jha Parimal
मैं तुझको इश्क कर रहा हूं।
Taj Mohammad
आरजू
Kanchan Khanna
ब्रेक अप
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
ज़िंदगी मौत पर खत्म होगी
Dr fauzia Naseem shad
सनातन संस्कृति
मनोज कर्ण
सच्चा रिश्ता
DESH RAJ
न कोई जगत से कलाकार जाता
आकाश महेशपुरी
Loading...