Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
26 Jul 2022 · 1 min read

दुआ

तुम वो दुआ हो रूह में उतर कर
दर्द और तकलीफ़ों से उबार लोगे ,
अनचाही उलझनों से घिर गया हूँ
मुझे यकीं है तुम सँभाल लोगे ,

Language: Hindi
171 Views
You may also like:
रक्षा बंधन :दोहे
Sushila Joshi
नादानियाँ
Anamika Singh
मैंने रोक रखा है चांद
Kaur Surinder
महाराणा
दशरथ रांकावत 'शक्ति'
शिक्षक दिवस
Ram Krishan Rastogi
जर्मनी की बर्बादी
Shekhar Chandra Mitra
गुमान
AJAY AMITABH SUMAN
दया करो भगवान
Buddha Prakash
*रामपुर रियासत को कायम रखने का अंतिम प्रयास और रामभरोसे...
Ravi Prakash
सास-बहू के झगड़े और मनोविज्ञान
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
■ बातों-बातों में...
*Author प्रणय प्रभात*
तितली
Manshwi Prasad
नेता (Leader)
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
!!महात्मा!!
पंकज पाण्डेय सावर्ण्य
सवाल कोई नहीं
Dr fauzia Naseem shad
सबको नित उलझाये रहता।।
Rambali Mishra
"खिलौने"
Dr Meenu Poonia
अल्लादीन का चिराग़
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
12
Dr Archana Gupta
✍️कभी कभी
'अशांत' शेखर
Mohd Talib
Mohd Talib
घर
Saraswati Bajpai
हमें दिल की हर इक धड़कन पे हिन्दुस्तान लिखना है
Irshad Aatif
सच होता है कड़वा
gurudeenverma198
💐💐धर्मो रक्षति रक्षित:💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
आसां ना होती है।
Taj Mohammad
प़थम स्वतंत्रता संग्राम
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
जैसी करनी वैसी भरनी
Ashish Kumar
सच में शक्ति अकूत (गीत)
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
अराच पत्रक
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
Loading...