Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Apr 26, 2022 · 2 min read

दीया तले अंधेरा

✒️📙जीवन की पाठशाला 📖🖋️

🙏 मेरे सतगुरु श्री बाबा लाल दयाल जी महाराज की जय 🌹

मेरे द्वारा स्वरचित एवं स्वमौलिक दूसरी कविता :-

विषय : दीया तले अंधेरा

मेरे घर में है दिया तले अँधेरा ,
तेरे घर में भी है दिया तले अँधेरा ,
परिवार में राजनीती -ये दोहरे चेहरे ,
क्या नहीं है ये दिया तले अँधेरा !

ये झूठे और स्वार्थ में लिप्त रिश्ते ,
ये अपनापन जताते -मीठी पर झूटी बातें बोलते रिश्ते ,
इस कलयुग में पैसे को ही धर्म मानते रिश्ते ,
स्वार्थ के लिए एक छत के नीचे रहते रिश्ते ,
क्या नहीं है ये दिया तले अँधेरा !!

चुनाव के समय पाँव पड़ते ये नेता ,
गरीब -लाचार से इंसानियत दिखाते नेता ,
चुनाव जीतने पर जनता को अपने क़दमों पर बिठाते नेता ,
क्या नहीं है ये दिया तले अँधेरा !!!

धर्म के नाम पर डराते और लूटते ये धर्म के ठेकेदार ,
ईश्वर का अवतार लिए लाशों का सौदा करते ये सफेदपोश इंसान ,
आपकी मजबूरी में आपके कपडे उतारते ये खाकी और काले कोट वाले इंसान ,
क्या नहीं है ये दिया तले अँधेरा !!!!!

कहाँ नहीं है दिया तले अँधेरा ,
हाँ -उस सतगुरु के दर पर ,
उस इष्ट की चौखट पर ,
केवल वहीँ है उजियारा -प्रकाश -राह ,
वहां नहीं है दिया तले अँधेरा …!

(यहाँ किसी व्यक्ति विशेष -धर्म विशेष -जाती विशेष या कार्य विशेष पर कोई प्रहार नहीं है ,इस कलयुग में जो चरितार्थ हो रहा है वो सत्य मात्र है )

Affirmations :-
1-मैं समस्या से ज्यादा उसके निराकरण को निकालने में
विश्वास रखता हूँ…
2-मुझे खुद पर विश्वास है…
3-मैं कोई भी काम कर सकता हूँ…
4-मेरा शरीर, मन और आत्मा पूरी तरह से स्वस्थ है…
5-मेरा concentration level बहुत high है में नई चीज़ो को बहुत जल्दी सीख लेता हूँ …
6-मैं हमेशा सच बोलता हूँ…
7-जो मैं सोच सकता हूँ वो मैं कर भी सकता हूँ…

बाकी कल ,खतरा अभी टला नहीं है ,दो गज की दूरी और मास्क 😷 है जरूरी ….सावधान रहिये -सतर्क रहिये -निस्वार्थ नेक कर्म कीजिये -अपने इष्ट -सतगुरु को अपने आप को समर्पित कर दीजिये ….!
🙏सुप्रभात 🌹
आपका दिन शुभ हो
स्वरचित स्वमौलिक
विकास शर्मा'”शिवाया”
🔱जयपुर -राजस्थान 🔱

1 Like · 78 Views
You may also like:
दर्द का अंत
AMRESH KUMAR VERMA
माँ तुम सबसे खूबसूरत हो
Anamika Singh
एक शहीद की महबूबा
ओनिका सेतिया 'अनु '
मुक्तक- उनकी बदौलत ही...
आकाश महेशपुरी
सुकून सा ऐहसास...
Dr. Alpa H. Amin
मां की पुण्यतिथि
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
गीत की लय...
मनमोहन लाल गुप्ता अंजुम
मैं पिता हूं।
Taj Mohammad
प्रेम...
Sapna K S
फूल की ललक
Vijaykumar Gundal
बरगद का पेड़
Manu Vashistha
✍️दिल ही बेईमान था✍️
"अशांत" शेखर
पिता
Kanchan Khanna
मुकरिया__ चाय आसाम वाली
Manu Vashistha
एक नज़म [ बेकायदा ]
DR ARUN KUMAR SHASTRI
मैं इनकार में हूं
शिव प्रताप लोधी
✍️जीवन की ऊर्जा है पिता...!✍️
"अशांत" शेखर
जिंदगी को खामोशी से गुज़ारा है।
Taj Mohammad
कन्यादान क्यों और किसलिए [भाग३]
Anamika Singh
धार्मिक उन्माद
Rakesh Pathak Kathara
प्रेम की राह पर -8
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
बहते अश्कों से पूंछो।
Taj Mohammad
✍️कही हजार रंग है जिंदगी के✍️
"अशांत" शेखर
* बेकस मौजू *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
रसिया यूक्रेन युद्ध विभीषिका
Ram Krishan Rastogi
वर्तमान
Vikas Sharma'Shivaaya'
युद्ध सिर्फ प्रश्न खड़ा करता है [भाग१]
Anamika Singh
💐💐प्रेम की राह पर-13💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
माँ
संजीव शुक्ल 'सचिन'
जिंदगी का मशवरा
Krishan Singh
Loading...