Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Oct 29, 2016 · 1 min read

दीप जलाओ

दीप जलाओ

दीप देहरी पर इन्सानियत के जलाओ
इन्साफ की झिलमिल दर – दर लगाओ
एक दीप आज ऐसा मिल कर जलाना
त्रेतायुग सा रामराज्य फिर से ले आना

दीन – हीन का कोई क्रन्दन सुनाई न दें
नेह के पटाखों की ऐसी लड़ी सजाओ
एक दीप आज ऐसा मिल कर जलाना
त्रेतायुग सा रामराज्य फिर से ले आना

बल्ब जो जले जुगनूओं से भित्तियों पर
मन के दीप आलोकित उनसे कर लेना
एक दीप आज ऐसा मिल कर जलाना
त्रेतायुग सा रामराज्य फिर से ले आना

जो दीन दुखियों के सारे दुख मिटा दें
जो दीप गरीबों पर तेरी कृपा बरसा दें
एक दीप आज ऐसा मिल कर जलाना
त्रेतायुग सा रामराज्य फिर से ले आना

डॉ मधु त्रिवेदी

73 Likes · 1 Comment · 234 Views
You may also like:
नदी सदृश जीवन
Manisha Manjari
My Expressions
Shyam Sundar Subramanian
तजर्रुद (विरक्ति)
Shyam Sundar Subramanian
💐 देह दलन 💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
प्रार्थना
Anamika Singh
ख्वाब ही जीवन है
Mahendra Rai
मज़ाक बन के रह गए हैं।
Taj Mohammad
आपके जाने के बाद
pradeep nagarwal
कोशिश
Anamika Singh
शिखर छुऊंगा एक दिन
AMRESH KUMAR VERMA
किसको बुरा कहें यहाँ अच्छा किसे कहें
Dr Archana Gupta
खंडहर हुई यादें
VINOD KUMAR CHAUHAN
विलुप्त होती हंसी
Dr Meenu Poonia
We Would Be Connected Actually
Manisha Manjari
आंखों का वास्ता।
Taj Mohammad
✍️तर्क✍️
"अशांत" शेखर
हम उन्हें कितना भी मनाले
D.k Math
जय जगजननी ! मातु भवानी(भगवती गीत)
मनोज कर्ण
✍️✍️हमदर्द✍️✍️
"अशांत" शेखर
तुझे अपने दिल में बसाना चाहती हूं
Ram Krishan Rastogi
पेड़ों का चित्कार...
Chandra Prakash Patel
पाकीज़ा इश्क़
VINOD KUMAR CHAUHAN
मेरा स्वाभिमान है पिता।
Taj Mohammad
✍️✍️पराये दर्द✍️✍️
"अशांत" शेखर
पूरी करता घर की सारी, ख्वाहिशों को वो पिता है।
सत्य कुमार प्रेमी
जबसे मुहब्बतों के तरफ़दार......
अश्क चिरैयाकोटी
स्वादिष्ट खीर
Buddha Prakash
गम आ मिले।
Taj Mohammad
बेटियाँ
डा. सूर्यनारायण पाण्डेय
* बेकस मौजू *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
Loading...