Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Oct 30, 2016 · 1 min read

दीपावली की दीपमालिका

दीपावली की दीपमालिका
झिलमिल झिलमिल करती आई
उर अंधकार मिटाकर सबके
खुशियों की सौगात लायी
राग-द्वेष का भेद मिटाकर
हृदय पवित्र बना लो अपने
दीपों के इस शुभ अवसर पर
मन-प्रकाश के दीप जलालो
जगमग-जगमग करते दीपक
सब अंधकार मिटायेंगे
हंसी-खुशी की फुलझड़ियों से
सबका मन हर्षायेंगे
दीपावली की शुभ बेला पर
मिलकर जश्न मनायेंगे

-डॉ चित्रा गुप्ता

267 Views
You may also like:
ट्रेजरी का पैसा
Mahendra Rai
जिन्दगी का सफर
Anamika Singh
दर्द
Anamika Singh
जोकर vs कठपुतली
bhandari lokesh
पढ़ाई - लिखाई
AMRESH KUMAR VERMA
ग़ज़ल- इशारे देखो
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
कविता की महत्ता
Rj Anand Prajapati
आईना झूठ लगे
VINOD KUMAR CHAUHAN
अल्फाज़ ए ताज भाग-4
Taj Mohammad
विश्व फादर्स डे पर शुभकामनाएं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
ख़्वाब सारे तो
Dr fauzia Naseem shad
🥗फीका 💦 त्यौहार💥 (नाट्य रूपांतरण)
पाण्डेय चिदानन्द
मैं सोता रहा......
Avinash Tripathi
संगीतमय गौ कथा (पुस्तक समीक्षा)
Ravi Prakash
कश्मीर की तस्वीर
DESH RAJ
गाँव की स्थिति.....
Dr. Alpa H. Amin
पिता ईश्वर का दूसरा रूप है।
Taj Mohammad
खिले रहने का ही संदेश
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
ब्रह्म निर्णय
DR ARUN KUMAR SHASTRI
✍️कथासत्य✍️
"अशांत" शेखर
मै हूं एक मिट्टी का घड़ा
Ram Krishan Rastogi
जिन्दगी से क्या मिला
Anamika Singh
ये पहाड़ कायम है रहते ।
Buddha Prakash
नवजीवन
AMRESH KUMAR VERMA
कुछ गुनाहों की कोई भी मगफिरत ना होती है।
Taj Mohammad
शेर
dks.lhp
आह! 14 फरवरी को आई और 23 फरवरी को चली...
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
दो दिलों का मेल है ये
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
मेरी जिन्दगी से।
Taj Mohammad
सांसें कम पड़ गई
Shriyansh Gupta
Loading...