Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Nov 26, 2016 · 1 min read

दिल की दीवार पे कुछ तस्वीरें रहती हैं……………….

दिल की दीवार पे कुछ तस्वीरें रहती हैं
साथ साथ सब्त उस पे तहरीरें रहती हैं

दूर अभी मंज़िल तक़ाज़ा तेज़ चलने का
दौड़ूँ कैसे पाँव में ज़ंजीरें रहती हैं

लिख कर के छोड़ आए थे जो कह न सके हम
चल के देखते हैं कैसी तासीरें रहती हैं

यां कोई भी नहीं कमतर शहंशाहों से
हर मयान में यहाँ भी शमशीरें रहती हैं

जाने क्या लिख दिया लिखने वाले ने इन पर
हाथों में हर शख़्स के लकीरें रहती हैं

सच है ये बात गरचे मानता नहीं कोई
बस जीनें तलक अपनी जागीरें रहती हैं

आदम की कोशिशें बन जाये खुदा अभी वो
कब बस में इंसान के तक़दीरें रहती हैं

–सुरेश सांगवान ‘सरु’

95 Views
You may also like:
देश के नौजवानों
अनामिका सिंह
नेता और मुहावरा
सूर्यकांत द्विवेदी
शायरी ने बर्बाद कर दिया |
Dheerendra Panchal
कातिल बन गए है।
Taj Mohammad
"खुद की तलाश"
Ajit Kumar "Karn"
कुछ दिन की है बात ,सभी जन घर में रह...
Pt. Brajesh Kumar Nayak
भाईजान की बात
AJAY PRASAD
इब्ने सफ़ी
DR ARUN KUMAR SHASTRI
क्यों भिगोते हो रुखसार को।
Taj Mohammad
सुख दुख
Rakesh Pathak Kathara
I feel h
Swami Ganganiya
बदरा कोहनाइल हवे
सन्तोष कुमार विश्वकर्मा 'सूर्य'
प्रणाम : पल्लवी राय जी तथा सीन शीन आलम साहब
Ravi Prakash
स्कूल का पहला दिन
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
मुझमें भारत तुझमें भारत
Rj Anand Prajapati
सुहावना मौसम
AMRESH KUMAR VERMA
शाश्वत सत्य की कलम से।
Manisha Manjari
दोहा छंद- पिता
रेखा कापसे
"विहग"
Ajit Kumar "Karn"
अपने मंजिल को पाऊँगा मैं
Utsav Kumar Aarya
अविरल
DR ARUN KUMAR SHASTRI
काव्य संग्रह
AJAY PRASAD
बताकर अपना गम।
Taj Mohammad
यकीन
Vikas Sharma'Shivaaya'
प्रेयसी पुनीता
Mahendra Rai
विद्या पर दोहे
Dr. Sunita Singh
जालिम कोरोना
Dr Meenu Poonia
💐नाशवान् इच्छा एव पापस्य कारणं अविनाशी न💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
हम हैं
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
मेरे पिता
Ram Krishan Rastogi
Loading...