Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Apr 27, 2022 · 2 min read

दिल और गुलाब

✒️📙जीवन की पाठशाला 📖🖋️

🙏 मेरे सतगुरु श्री बाबा लाल दयाल जी महाराज की जय 🌹

मेरे द्वारा स्वरचित एवं स्वमौलिक तीसरी कविता :-

विषय – दिल और गुलाब

गुलाब तेरा रंग रूप भी लाल
दिल तेरा रूप रंग भी लाल

गुलाब तुझमें है बड़ी नाजुकता
दिल तू संजोये बैठा है कोमलता

एक पत्ती टूटने पर गुलाब तू है बिखरता
एक चोट लगने पर दिल तू भी तो है बिखरता

गुलाब तू बनता ईश्वर के गले का हार -श्रृंगार
दिल तू भी ईश्वर को अर्पण करता अपने भाव का हार -आंसुओं की माला

गुलाब तू है प्रेम का प्रतीक -ऊर्जा का स्तोत्र
दिल तू भी तो है प्रेम में सरोबोर -ऊर्जा का स्तोत्र

गुलाब तु सजता सेज पर दिल के रूप में
और तुम दोनों मिलकर लिखते एक नई परिभाषा प्रेम की
और उस परिभाषा से तुम रचते एक युग का निर्माण
एक नए मेहमान के आगमन पर फिर खिलती दिल की पंखुड़ियां

Affirmations :-
1-मेरा ध्यान गुजरे हुए कल पर नहीं आने वाले पल पर है…
2-मैं एक बेहतरीन इंसान हूँ ,मेरा भविष्य बहुत उज्वल है…
3-मेरे अंदर हर कार्य करने की क्षमता है…
4-मुझे सफल होने को जो कुछ भी चाहिए वो मेरे अंदर ही है.
5-मैं विश्वास करता हु की दुनिया में पैसे कमाने के अनेक तरीके है…
6-धन्यवाद भागवान ,मेरे पास जो कुछ है में उससे संतुष्ट हूँ ..
7-मैं कुछ भी हासिल कर सकता हूँ ,बस खुद पर विश्वास रखना होगा।

बाकी कल ,खतरा अभी टला नहीं है ,दो गज की दूरी और मास्क 😷 है जरूरी ….सावधान रहिये -सतर्क रहिये -निस्वार्थ नेक कर्म कीजिये -अपने इष्ट -सतगुरु को अपने आप को समर्पित कर दीजिये ….!
🙏सुप्रभात 🌹
आपका दिन शुभ हो
स्वरचित स्वमौलिक
विकास शर्मा'”शिवाया”
🔱जयपुर -राजस्थान 🔱

145 Views
You may also like:
पत्नी जब चैतन्य,तभी है मृदुल वसंत।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
✍️इश्क़ और जिंदगी✍️
'अशांत' शेखर
तपिसों में पत्थर
Dr. Sunita Singh
💐ये मेरी आशिकी💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
जिंदगी का राज
Anamika Singh
.✍️साथीला तूच हवे✍️
'अशांत' शेखर
✍️जिंदगी का बोझ✍️
'अशांत' शेखर
✍️ते मोगऱ्याचे झाड होते✍️
'अशांत' शेखर
लॉकडाउन गीतिका
Ravi Prakash
*"चित्रगुप्त की परेशानी"*
Shashi kala vyas
Only for L
श्याम सिंह बिष्ट
समंदर की चेतावनी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
दिल्लगी
Harshvardhan "आवारा"
कहानी *"ममता"* पार्ट-2 लेखक: राधाकिसन मूंधड़ा, सूरत।
radhakishan Mundhra
विश्व हास्य दिवस
Dr Archana Gupta
नफरत है मुझे
shabina. Naaz
✍️वो खूबसूरती✍️
'अशांत' शेखर
असतो मा सद्गमय
Kanchan Khanna
✍️मैं परिंदा...!✍️
'अशांत' शेखर
Anand mantra
Rj Anand Prajapati
'गुरु' (देव घनाक्षरी)
Godambari Negi
राखी-बंँधवाई
श्री रमण 'श्रीपद्'
साजन जाए बसे परदेस
Shivkumar Bilagrami
Love never be painful
Buddha Prakash
पर्यावरण और मानव
मनमोहन लाल गुप्ता अंजुम
फास्ट फूड
AMRESH KUMAR VERMA
नहीं छिपती
shabina. Naaz
मतलब के रिश्ते
Anamika Singh
जीत कर भी जो
Dr fauzia Naseem shad
भारत बनाम (VS) पाकिस्तान
Dr.sima
Loading...