Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

दाड़ी के सफेद बाल

तू देखकर खतरा,
अक्सर नजर फेर लेता है
बाद में भाइयो-बहिनों कहकर
सबका मन मोह लेता है ।

सब परेशान है,
विवाह के बंधन से
विवाह तोड़कर अपना
तू लोगों से नया रिस्ता जोड़ लेता है ।

पेट्रोल-गैस-तेल के दाम,
ऐसे ही नही बढ़ाए है
अपना रिस्ता मजबूत रखने
तू घरों में कलह मचाए रखता है ।

साला होने की औकात,
बदस्तूर समझता है
बहिनो को पटाकर
जीजाओं का खर्च बढ़ाता रहता है ।

तेरी दाड़ी का खर्च भी,
हम ही उठाते हैं,
तभी उसमे काला बाल
कोई नजर नही आता है ।

3 Likes · 337 Views
You may also like:
" IDENTITY "
DrLakshman Jha Parimal
तनिक पास आ तो सही...!
Dr. Pratibha Mahi
नियमित बनाम नियोजित(मरणशील बनाम प्रगतिशील)
Sahil
ज़िंदगी में न ज़िंदगी देखी
Dr fauzia Naseem shad
अना दिलों में सभी के....
अश्क चिरैयाकोटी
बहते अश्कों से पूंछो।
Taj Mohammad
वर्षा
Vijaykumar Gundal
गंगा से है प्रेमभाव गर
VINOD KUMAR CHAUHAN
युद्ध सिर्फ प्रश्न खड़ा करता है। [भाग ७]
Anamika Singh
हम पे सितम था।
Taj Mohammad
हमारी धरती
Anamika Singh
नैन अपने
Dr fauzia Naseem shad
" मां भवानी "
Dr Meenu Poonia
बहुत घूमा हूं।
Taj Mohammad
रे बाबा कितना मुश्किल है गाड़ी चलाना
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
जिंदगी की रेस
DESH RAJ
मैं द्रौपदी, मेरी कल्पना
Anamika Singh
बिछड़न [भाग१]
Anamika Singh
'हकीकत'
Godambari Negi
तप रहे हैं प्राण भी / (गर्मी का नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
जी हाँ, मैं
gurudeenverma198
नन्हें फूलों की नादानियाँ
DESH RAJ
✍️स्टेचू✍️
'अशांत' शेखर
आह! भूख और गरीबी
Dr fauzia Naseem shad
झूला सजा दो
Buddha Prakash
योग क्या है और इसकी महत्ता
Ram Krishan Rastogi
कोरोना - इफेक्ट
Kanchan Khanna
नया पड़ाव।
Kanchan sarda Malu
अफसोस-कर्मण्य
Shyam Pandey
बढ़ती आबादी
AMRESH KUMAR VERMA
Loading...