Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

दाढ़ी में तिनका

दाढ़ी में तिनका

कोई बताएगा
दाढ़ी में तिनका
बढ़ता है दाढ़ी के साथ

या फिर तिनका
रहता है उतना ही
बढ़ती जाती है दाढ़ी

गुत्थी सुलझ ही नहीं रही
और दाढ़ी
बढ़ती ही जा रही है

तिनके,
तूने एक इंसान का
क्या बना डाला

-विनोद सिल्ला©

1 Like · 133 Views
You may also like:
राहों के कांटे हटाते ही रहें।
सत्य कुमार प्रेमी
किसी का जला मकान है।
Taj Mohammad
ढूंढना दिल उसी को
Dr fauzia Naseem shad
बर्षा रानी जल्दी आओ
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
विश्व मजदूर दिवस पर दोहे
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
जिन्दगी और चाहत
Anamika Singh
*#महापुरुषों_के_पत्र* (संस्मरण)
Ravi Prakash
'हरि नाम सुमर' (डमरू घनाक्षरी)
Godambari Negi
दिया
Anamika Singh
लौट आई जिंदगी बेटी बनकर!
ज्ञानीचोर ज्ञानीचोर
हम भी नज़ीर बन जाते।
Taj Mohammad
क्यों कहाँ चल दिये
gurudeenverma198
✍️मौसम सर्द हुआ है✍️
'अशांत' शेखर
उतरते जेठ की तपन / (गर्मी का नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
पिता की व्यथा
मनोज कर्ण
बारी है
वीर कुमार जैन 'अकेला'
💐कह भी डालो यार 💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
आईना हम कहाँ
Dr fauzia Naseem shad
तुम्हारे माता-पिता
Saraswati Bajpai
*कथावाचक श्री राजेंद्र प्रसाद पांडेय 【कुंडलिया】*
Ravi Prakash
गंतव्य में पीछे मुड़े, अब हमें स्वीकार नहीं
Tnmy R Shandily
सद्ज्ञानमय प्रकाश फैलाना हमारी शान है |
Pt. Brajesh Kumar Nayak
असफलता और मैं
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
'%पर न जाएं कम % योग्यता का पैमाना नहीं है'
Godambari Negi
मयखाने
Vikas Sharma'Shivaaya'
सबको दुनियां और मंजिल से मिलाता है पिता।
सत्य कुमार प्रेमी
  " परिवर्तन "
Dr Meenu Poonia
लड्डू का भोग
Buddha Prakash
पत्नी जब चैतन्य,तभी है मृदुल वसंत।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
Security Guard
Buddha Prakash
Loading...