Oct 8, 2016 · 1 min read

दर्द से भरी जो बात मुझसे कही

दर्द से जो भरी बात मुझसे कही
छोड़ के जिन्दगी जब चली क्या करें

मुस्कराहट हमेशा सजी होठ पर
ले मजा जो इश्क का पली क्या करें

साथ मेरा नहीं आज उसको मिला
प्यार को छोड़ पति से मिली क्या करें

फूल को देख बौरा गया जब बसंत
लग गले से मिली तो कली क्या करें

हो गयी है सुहानी ऋतु आज फिर
जब मुहब्बत मिली तो खिली क्या करें

71 Likes · 170 Views
You may also like:
बुलन्द अशआर
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
पिता के रिश्ते में फर्क होता है।
Taj Mohammad
जब बेटा पिता पे सवाल उठाता हैं
Nitu Sah
पापा की परी...
Sapna K S
सुर बिना संगीत सूना.!
Prabhudayal Raniwal
इन नजरों के वार से बचना है।
Taj Mohammad
जेब में सरकार लिए फिरते हैं
VINOD KUMAR CHAUHAN
मेरे हर सिम्त जो ग़म....
अश्क चिरैयाकोटी
मेरा पेड़
उमेश बैरवा
स्वार्थ
Vikas Sharma'Shivaaya'
प्रेम...
Sapna K S
भ्राजक
DR ARUN KUMAR SHASTRI
🌺🌻🌷तुम मिलोगे मुझे यह वादा करो🌺🌻🌷
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
खंडहर हुई यादें
VINOD KUMAR CHAUHAN
चूँ-चूँ चूँ-चूँ आयी चिड़िया
Pt. Brajesh Kumar Nayak
प्रेम
श्रीहर्ष आचार्य
कभी कभी।
Taj Mohammad
*पापा … मेरे पापा …*
Neelam Chaudhary
चौंक पड़ती हैं सदियाॅं..
Rashmi Sanjay
अहंकार
AMRESH KUMAR VERMA
🌷मनोरथ🌷
पंकज कुमार "कर्ण"
हर ख्वाहिश।
Taj Mohammad
महँगाई
आकाश महेशपुरी
My Expressions
Shyam Sundar Subramanian
पिता कुछ भी कर जाता है।
Taj Mohammad
【1】*!* भेद न कर बेटा - बेटी मैं *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
मेरे दिल का दर्द
Ram Krishan Rastogi
कन्यादान क्यों और किसलिए [भाग१]
Anamika Singh
हम भी है आसमां।
Taj Mohammad
मेरा ना कोई नसीब है।
Taj Mohammad
Loading...