Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 6, 2022 · 1 min read

दर्द का अंत

जब कोई अपना हमें
कस्दन पहुंचाता ठेस
आखिर उसकी दी हुई
दुःख, दर्द या उत्पीड़न
एक तरह से वो संताप,
दुख देकर भी देता शाद।

किसी के वसिले से हमें
कोई देता संताप, कलक
रंज, क्लेश में तड़पते हुए
मुझे देखकर उनका मानस
हो जाता होगा सहृदय चंगा
ए- गौं से वो हितैषी हमारा।

दर्द, पीड़न, दुख, मोहमाया
हर एक मानुष, मनुष्य को
सबों को झेलनी पड़ती यह
इंतकाल के पश्चात ही हमें
इन सबों से मिली अपवर्ग
सबों का इतिश्री देहावसान ।

जो हमारे गतिपथ में अक्सर
खोदते रहते है अज्ञेय, क्लिष्ट
उनके लिए यह सब हमारे
अनुरूप से है उनकी बचपना
जो खोदते रहते सतत दुश्वारी
दर्द की अंतिम उपचार है मृत्यु ।

लेखक:- अमरेश कुमार वर्मा
जवाहर नवोदय विद्यालय बेगूसराय, बिहार

2 Likes · 145 Views
You may also like:
अनामिका के विचार
Anamika Singh
क्यों ना नये अनुभवों को अब साथ करें?
Manisha Manjari
अंदाज़।
Taj Mohammad
एक शख्स सारे शहर को वीरान कर जाता हैं
Krishan Singh
कोशिश करने वालों की हार नहीं होती हैं
DR ARUN KUMAR SHASTRI
💐नव ऊर्जा संचार💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
कितनी इस दर्द ने
Dr fauzia Naseem shad
मंजिल की उड़ान पुस्तक
AMRESH KUMAR VERMA
महताब ने भी मुंह फेर लिया है।
Taj Mohammad
हमारी धरती
Anamika Singh
श्रम पिता का समाया
शेख़ जाफ़र खान
नींदों से कह दिया है
Dr fauzia Naseem shad
उसके मेरे दरमियाँ खाई ना थी
Khalid Nadeem Budauni
खंडहर हुई यादें
VINOD KUMAR CHAUHAN
मित्र दिवस पर आपको, प्यार भरा प्रणाम
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
*जो हुकुम सरकार (गीतिका)*
Ravi Prakash
निशां बाकी हैं।
Taj Mohammad
मुहब्बत भी क्या है
shabina. Naaz
घड़ी
Utsav Kumar Aarya
किस्मत ने जो कुछ दिया,करो उसे स्वीकार
Dr Archana Gupta
महका हम करेंगें।
Taj Mohammad
कितना मुश्किल है पिता होना
Ashish Kumar
मुकरियां __नींद
Manu Vashistha
# महकता बदन #
DR ARUN KUMAR SHASTRI
तेरा चलना ओए ओए ओए
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
जात पात
Harshvardhan "आवारा"
जावेद कक्षा छः का छात्र कला के बल पर कई...
Shankar J aanjna
प्रेम पर्दे के जाने """"""""""""""""""""""'''"""""""""""""""""""""""""""""""""
Varun Singh Gautam
किंकर्तव्यविमूढ़
Shyam Sundar Subramanian
बापू का सत्य के साथ प्रयोग
Pooja Singh
Loading...