Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Sep 18, 2019 · 1 min read

दरिंदगी से तो भ्रूण हत्या ही अच्छी

भ्रूण हत्या से कलयुग में बचाया मुझे
नई जिंदगी की राह खुली थी
आंखों में कामयाबी के सपने लिए
शहर की सड़क पर निकली थी
अभी तो शरीर की शुरुआत भी नहीं हुई
राजनेता की दरिंदगी ने जकड़ी थी
ए बचाने वाले क्यों दी मुझे नहीं जिंदगी
दरिंदगी से तो भ्रूण हत्या ही अच्छी थी

2 Likes · 322 Views
You may also like:
✍️पैरो तले ज़मी✍️
'अशांत' शेखर
✍️कालचक्र✍️
'अशांत' शेखर
तेरा रूतबा है बड़ा।
Taj Mohammad
पहला प्यार
Dr. Meenakshi Sharma
दोहे एकादश...
डॉ.सीमा अग्रवाल
ज्यादा रोशनी।
Taj Mohammad
गुरुर
Annu Gurjar
इन्सानों का ये लालच तो देखिए।
Taj Mohammad
✍️सलं...!✍️
'अशांत' शेखर
सियासी क़ैदी
Shekhar Chandra Mitra
सास-बहू के झगड़े और मनोविज्ञान
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
कैसी भी हो शराब।
Taj Mohammad
अजब कहानी है।
Taj Mohammad
दिल की सुनाएं आप जऱा लौट आइए।
सत्य कुमार प्रेमी
मेरी तडपन अब और न बढ़ाओ
Ram Krishan Rastogi
इच्छाओं का घर
Anamika Singh
रक्षा बंधन
विजय कुमार अग्रवाल
मैं धरती पर नीर हूं निर्मल, जीवन मैं ही चलाता...
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
ज़िंदगी को चुना
अंजनीत निज्जर
सुन री पवन।
Taj Mohammad
🌺🍀दोषा: च एतेषां सत्ता🍀🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
स्वादिष्ट खीर
Buddha Prakash
जिंदगी की फरमाइश - डी के निवातिया
डी. के. निवातिया
पुस्तक समीक्षा : सपनों का शहर
दुष्यन्त 'बाबा'
प्रेम कथा
Shiva Awasthi
मूक प्रेम
Rashmi Sanjay
दर्द पन्नों पर उतारा है
Seema Tuhaina
आखिरी कोशिश
AMRESH KUMAR VERMA
" मेरा वतन "
Dr Meenu Poonia
💐बोधाद्वैते एकता भवति प्रेमाद्वैते अभिन्नता भवति च💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
Loading...