Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
7 Jul 2022 · 1 min read

थोड़ी सी कसक

जीने की वजह बनते हैं कुछ ख़्वाब अधूरे से ।
थोड़ी सी कसक दिल में कुछ काम अधूरे से ।।

डाॅ फौज़िया नसीम शाद

Language: Hindi
Tag: शेर
10 Likes · 255 Views
You may also like:
💐 गुजरती शाम के पैग़ाम💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
इन्साफ
Alok Saxena
चाँद पर खाक डालने से क्या होगा
shabina. Naaz
चित्रगुप्त पूजन
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
जिंदगी तो धोखा है।
Taj Mohammad
माँ
अश्क चिरैयाकोटी
*नेता जी से रखिए दूरी (हिंदी गजल/ गीतिका)*
Ravi Prakash
✍️वो अच्छे से समझता है ✍️
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
प्रतीक्षित
Shiva Awasthi
तड़पती रही मैं सारी रात
Ram Krishan Rastogi
लघुकथा- उम्मीद की किरण
Akib Javed
लोकदेवता :दिहबार
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
मिट्टी के दीप जलाना
Yash Tanha Shayar Hu
लोग कहते हैं कि कवि
gurudeenverma198
माई री ,माई री( भाग १)
Anamika Singh
A cup of tea ☕
Buddha Prakash
गीत-बेटी हूं हमें भी शान से जीने दो
SHAMA PARVEEN
थिरक उठें जन जन,
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
दास्तां-ए-दर्द
Seema 'Tu hai na'
एक बर्बाद शायर
Shekhar Chandra Mitra
दिल्ली का प्रदूषण
लक्ष्मी सिंह
“सुन रहे हैं ना मोदी जी! इमरान अफगानियों को भी...
DrLakshman Jha Parimal
मुझे चांद का इंतज़ार नहीं
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
मेरी तस्वीर
Dr fauzia Naseem shad
गुरु के अनेक रूप
ओनिका सेतिया 'अनु '
✴️✴️प्रेम की राह पर-70✴️✴️
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
तेरे रूप अनेक हैं मैया - देवी गीत
Ashish Kumar
मोहब्बत ही आजकल कम हैं
Dr.sima
हास्य-व्यंग्य
Sadanand Kumar
मेरे पापा...
मनमोहन लाल गुप्ता 'अंजुम'
Loading...