Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 23, 2022 · 1 min read

थोड़ी मेहनत और कर लो

काम तुम भी करते हो
हर मुश्किल से लड़ते हो
फिर भी बनता नहीं काम तुम्हारा
तो थोड़ी मेहनत और कर लो।।

तोड़ दों हार-जीत की लड़ियां
देखो ना चाहत की घड़ियां
कुछ भी अभी बिगड़ा नहीं
थोड़ी मेहनत और कर लो।।

जल्दबाजी किसी काम में मत करना
जो करना पूरी निष्ठा से करना
हड़बड़ाने से कुछ नहीं होगा
हो सके तो थोड़ी मेहनत और कर लो।।

काम करना है अगर तो
आराम के चक्कर छोड़ना होगा
लग्न के चासनी में घुलकर
थोड़ी मेहनत और करना होगा।।

मेहनत तुम्हारा रंग लाएगा
जिस दिन काम पूरा होगा
तब तक वक्त के थामकर हाथ चलों
थोड़ी मेहनत और कर लो।।

व्यर्थ में समय को यूं न गंवाओं
कोई काम करके पहचान बनाओं
तन,मन के स्थिर करके चलों
थोड़ी मेहनत और कर लो।।

इंसान की पहचान है काम
घेरें हैं मानवता को सुबह-शाम
तुम भी अपना नाम बना लो
थोड़ी मेहनत और कर लो।।
नीतू साह
हुसेना बंगरा, सीवान -बिहार

2 Likes · 2 Comments · 29 Views
You may also like:
मेरे पिता
Ram Krishan Rastogi
सांसें कम पड़ गई
Shriyansh Gupta
बदल रहा है देश मेरा
Anamika Singh
जून की दोपहर (कविता)
Kanchan Khanna
कैसी भी हो शराब।
Taj Mohammad
नूतन सद्आचार मिल गया
Pt. Brajesh Kumar Nayak
माँ क्या लिखूँ।
Anamika Singh
साल गिरह
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
रहे न अगर आस तो....
डॉ.सीमा अग्रवाल
शहीद भारत यदुवंशी को मेरा नमन
Surabhi bharati
“माटी ” तेरे रूप अनेक
DESH RAJ
हनुमंता
Dhirendra Panchal
हम लिखते क्यों हैं
पूनम झा 'प्रथमा'
बेजुवान मित्र
AMRESH KUMAR VERMA
कभी सोचा ना था मैंने मोहब्बत में ये मंजर भी...
Krishan Singh
हे राम! तुम लौट आओ ना,,!
ओनिका सेतिया 'अनु '
✍️✍️हिमाक़त✍️✍️
"अशांत" शेखर
Crumbling Wall
Manisha Manjari
गुलमोहर
Ram Krishan Rastogi
इश्क
goutam shaw
सुबह आंख लग गई
Ashwani Kumar Jaiswal
वो खुश हैं अपने हाल में...!!
Ravi Malviya
हम जलील हो गए।
Taj Mohammad
Heart Wishes For The Wave.
Manisha Manjari
*~* वक्त़ गया हे राम *~*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
रात गहरी हो रही है
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
देशभक्ति के पर्याय वीर सावरकर
Ravi Prakash
*चाची जी श्रीमती लक्ष्मी देवी : स्मृति*
Ravi Prakash
💐💐💐न पूछो हाल मेरा तुम,मेरा दिल ही दुखाओगे💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
जो... तुम मुझ संग प्रीत करों...
Dr. Alpa H. Amin
Loading...