Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Settings
Oct 31, 2016 · 1 min read

तेरे चेहरे पे जो निखार है

तेरे चेहरे पे जो निखार है-२ ,

ये कह रहा है तुझको प्यार है।

तेरे चेहरे पे जो निखार है……….

तेरी आँखों में जो चमक रहा-२ ,

मैं जनता हूँ तेरा यार है।

तेरे चेहरे पे जो निखार है……….

कोई तनहा कहीं तड़प रहा,

तेरी बाँहो को बेकरार है ।

तेरे चेहरे पे जो निखार है……….

तेरे होंठों को छू के जी उठें,

मेरे सब गीत कर्जदार हैं।

तेरे चेहरे पे जो निखार है……….

तेरे चेहरे पे जो निखार है-२ ,

ये कह रहा है तुझको प्यार है।

तेरे चेहरे पे जो निखार है……….

242 Views
You may also like:
गीत
शेख़ जाफ़र खान
इश्क
Anamika Singh
"वो पिता मेरे, मै बेटी उनकी"
रीतू सिंह
A wise man 'The Ambedkar'
Buddha Prakash
बदलते हुए लोग
kausikigupta315
प्यार में तुम्हें ईश्वर बना लूँ, वह मैं नहीं हूँ
Anamika Singh
✍️गलतफहमियां ✍️
Vaishnavi Gupta
✍️फिर बच्चे बन जाते ✍️
Vaishnavi Gupta
पिता
Dr.Priya Soni Khare
मेरी भोली “माँ” (सहित्यपीडिया काव्य प्रतियोगिता)
पाण्डेय चिदानन्द
.✍️वो थे इसीलिये हम है...✍️
'अशांत' शेखर
रात तन्हा सी
Dr fauzia Naseem shad
बूँद-बूँद को तरसा गाँव
ईश्वर दयाल गोस्वामी
हायकु मुक्तक-पिता
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
✍️गुरु ✍️
Vaishnavi Gupta
जिन्दगी का सफर
Anamika Singh
तू कहता क्यों नहीं
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
पिता
Keshi Gupta
गर्मी का रेखा-गणित / (समकालीन नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
पहनते है चरण पादुकाएं ।
Buddha Prakash
नींद खो दी
Dr fauzia Naseem shad
बेटी को जन्मदिन की बधाई
लक्ष्मी सिंह
कमर तोड़ता करधन
शेख़ जाफ़र खान
दिल से रिश्ते निभाये जाते हैं
Dr fauzia Naseem shad
मेरा गांव
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
✍️लक्ष्य ✍️
Vaishnavi Gupta
राखी-बंँधवाई
श्री रमण 'श्रीपद्'
Security Guard
Buddha Prakash
पत्नि जो कहे,वह सब जायज़ है
Ram Krishan Rastogi
तुम हमें तन्हा कर गए
Anamika Singh
Loading...