Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
26 Jul 2020 · 2 min read

“ तेरी लौ ”

ऐसी “लौ” जलाई तूने कि मेरा दिल कुर्बान हो गया,
अब न रहा यह मेरा दिल उस पर तेरा राज हो गया I

जिस पल का मुझे इंतज़ार था , वह पल भी आ गया,
सोलह श्रृंगार करके डोली में जाने का समय आ गया,
इतराती नदी का सागर में मिलने का समय आ गया,
गरूर से दूर तुझमें समाहित होने का समय आ गया I

ऐसी “ लौ ” जलाई तूने कि मेरा दिल बाग़- बाग़ हो गया,
ऐसी मोहब्बत सिखाई कि हर एक इंसान से प्यार गया I

सजी डोली देखकर सारी सखियाँ बैरी हो गई हमसे ,
“डोली के पहरेदार” देखकर दूर भाग गई क्यों हमसे ?
कमी गिनावें , वो उंगली उठावें , लांछन लगावें सबसे ,
“पिया” तुम ही अब उबारो दुखियारी की अरज तुमसे I

ऐसी “ लौ ” जलाई तूने कि मेरा दिल तुझपर कुर्बान हो गया,
“प्यार का दिया” ऐसा जलाया कि हर मूरत से प्यार हो गया I

यह अबला तेरी पैयाँ की धूल को “सिन्दूर” बनाकर तुझसे मनुहार करे,
माफ़ कर दो मेरे सैयाँ इस “ जहाँ ” को, तुझसे बारम्बार अरदास करे ,
तेरी पलकों की छाँव में रहूँ तमन्ना मेरी, तुझसे “ राज ” फरियाद करे ,
हर एक ” मूरत ” को गले से लगाकर मन मंदिर में बसाकर प्यार करे I

ऐसी “लौ” जलाई तूने कि मेरा दिल कुर्बान हो गया,
अब न रहा यह मेरा दिल उस पर तेरा राज हो गया I

बड़ी आस लगाकर डोली पर सवार होकर तेरे करीब आई हूं,
गुनाहों की पोटली अपने माथे पर सजाकर तेरे दरबार आई हूँ ,
अपने रिश्तों-नातों से मुहँ मोड़कर तेरे सुंदर दरवाजे आई हूँ ,
“राज” तेरी एक खूबसूरत झलक पाने के लिये तेरे पास आई हूँ ,

ऐसी “ लौ ” जलाई तूने कि मेरा दिल कुर्बान हो गया,
अब न रहा यह मेरा दिल उस पर तेरा राज हो गया I

देशराज “राज”

Language: Hindi
Tag: कविता
6 Likes · 6 Comments · 548 Views
You may also like:
💐अशान्ति: अवश्यमेव नष्ट: भविष्यति,कदा??💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
【21】 *!* क्या हम चंदन जैसे हैं ? *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
महाराणा प्रताप
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
बाल कविता —टेडी बेयर
लक्ष्मी सिंह
अपना भारत देश महान है।
Taj Mohammad
बाल कहानी-पूजा और राधा
SHAMA PARVEEN
प्यार करते हो मुझे तुम तो यही उपहार देना
Shivkumar Bilagrami
शांत वातावरण
AMRESH KUMAR VERMA
संगीतमय गौ कथा (पुस्तक समीक्षा)
Ravi Prakash
शौक मर गए सब !
ओनिका सेतिया 'अनु '
- दिल का दर्द किसे करे बयां -
bharat gehlot
Writing Challenge- दोस्ती (Friendship)
Sahityapedia
इस्लाम का विकृत रूप और हिंदुओं के पतन के कारण...
Pravesh Shinde
वही ज़िंदगी में
Dr fauzia Naseem shad
जिंदगी की रेस
DESH RAJ
Love never be painful
Buddha Prakash
कृपा कर दो ईश्वर
Anamika Singh
जल की अहमियत
Utsav Kumar Aarya
आज भी हमें प्यार पुराना याद आता है./लवकुश यादव "अज़ल"
लवकुश यादव "अज़ल"
मत्तगयंद सवैया ( राखी )
संजीव शुक्ल 'सचिन'
ग़म का साया
shabina. Naaz
चाँदनी में नहाती रही रात भर
Dr Archana Gupta
जिल्लेइलाही की सवारी
Shekhar Chandra Mitra
आदरणीय अन्ना हजारे जी दिल्ली में जमूरा छोड़ गए
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
जिस नारी ने जन्म दिया
VINOD KUMAR CHAUHAN
गीत- जान तिरंगा है
आकाश महेशपुरी
न जाने तुम कहां चले गए
Ram Krishan Rastogi
सिया
सिद्धार्थ गोरखपुरी
✍️हुए बेखबर ✍️
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
सुधार लूँगा।
विजय कुमार 'विजय'
Loading...