Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

तेरी याराना पसंद है |ग़ज़ल|

मुस्कुरा कर दर्दे दिल छूपाना पसंद है
तुम्हें तो दिल जलाकर बहलाना पसंद है

देखना चाहते है तेरे चेहरे पर मुस्कान
ज़िंदगी से तेरे हर ग़म चुराना पसंद है

जानते है और भी होंगे तेरे चाहने वाले
फिर भी मुझे बस तेरी याराना पसंद है

भले ही तू न देख मुझे नज़रे चुरा-चुरा के
इस दीवाने को तेरी गलियों में आना पसंद है
मेरी मोहब्बत की कद्र नहीं तेरे दिल में
ये जानकर भी प्रीत बंधन निभाना पसंद है

दुष्यंत को देख अन्जान बनती है तू आज
फिर भी तेरी चाहत की गीत गाना पसंद है

कवि:-दुष्यंत कुमार पटेल “चित्रांश”

355 Views
You may also like:
प्रेम
श्रीहर्ष आचार्य
🍀प्रेम की राह पर-55🍀
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
बुआ आई
राजेश 'ललित'
गम आ मिले।
Taj Mohammad
चुप रहने में।
Taj Mohammad
गढ़वाली चित्रकार मौलाराम
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
आखिर क्यों... ऐसा होता हैं 
Dr. Alpa H. Amin
हम गीत ख़ुशी के गाएंगे
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
आप से हैं गुज़ारिश हमारी.... 
Dr. Alpa H. Amin
यादें आती हैं
Krishan Singh
✍️मुझे कातिब बनाया✍️
"अशांत" शेखर
हर किसी में अदबो-लिहाज़ ना होता है।
Taj Mohammad
समय के संग परिवर्तन
AMRESH KUMAR VERMA
Is It Possible
Manisha Manjari
“आनंद ” की खोज में आदमी
DESH RAJ
समय
AMRESH KUMAR VERMA
दर्द अपना है तो
Dr fauzia Naseem shad
✍️औरत हूँ ✍️
"अशांत" शेखर
या इलाही।
Taj Mohammad
चेहरा अश्कों से नम था
Taj Mohammad
When I missed you.
Taj Mohammad
परछाई से वार्तालाप
Ram Krishan Rastogi
आपस में तुम मिलकर रहना
Krishan Singh
श्री गंगा दशहरा द्वार पत्र (उत्तराखंड परंपरा )
श्याम सिंह बिष्ट
बहुत कुछ अनकहा-सा रह गया है (कविता संग्रह)
Ravi Prakash
गँवईयत अच्छी लगी
सिद्धार्थ गोरखपुरी
*पुस्तक का नाम : अँजुरी भर गीत* (पुस्तक समीक्षा)
Ravi Prakash
दरों दीवार पर।
Taj Mohammad
हक़ीक़त
अंजनीत निज्जर
मेरा जीवन
अनामिका सिंह
Loading...