Oct 15, 2016 · 1 min read

प्रमाण चाहिये

मुक्तक
उसको हर बात का जवाब चाहिये !
मेरे दिन और रात का हिसाब चाहिये!
चलना तो चाहूं हर कदम उसके साथ!
पर मेरे विश्वास का उसे प्रमाण चाहिए!!
– सोनिका मिश्रा

1 Like · 1 Comment · 354 Views
You may also like:
प्रणाम नमस्ते अभिवादन....
Dr. Alpa H.
है रौशन बड़ी।
Taj Mohammad
करते रहो सितम।
Taj Mohammad
पितृ वंदना
मनोज कर्ण
नमन!
Shriyansh Gupta
नीति के दोहे 2
Rakesh Pathak Kathara
देखो! पप्पू पास हो गया
संजीव शुक्ल 'सचिन'
श्रीराम
सुरेखा कादियान 'सृजना'
धूप कड़ी कर दी
सिद्धार्थ गोरखपुरी
जंगल में एक बंदर आया
VINOD KUMAR CHAUHAN
बे-पर्दे का हुस्न।
Taj Mohammad
गुजर रही है जिंदगी अब ऐसे मुकाम से
Ram Krishan Rastogi
बद्दुआ बन गए है।
Taj Mohammad
सिपाही
Buddha Prakash
मां-बाप
Taj Mohammad
परिवर्तन की राह पकड़ो ।
Buddha Prakash
विदाई की घड़ी आ गई है,,,
Taj Mohammad
कभी भीड़ में…
Rekha Drolia
बड़ा भाई बोल रहा हूं
Satpallm1978 Chauhan
"चैन से तो मर जाने दो"
रीतू सिंह
विश्व पुस्तक दिवस
Rohit yadav
" ओ मेरी प्यारी माँ "
कुलदीप दहिया "मरजाणा दीप"
हमको आजमानें की।
Taj Mohammad
तो पिता भी आसमान है।
Taj Mohammad
गम हो या हो खुशी।
Taj Mohammad
ग्रीष्म ऋतु भाग 1
Vishnu Prasad 'panchotiya'
ज़िंदगी।
Taj Mohammad
!!! राम कथा काव्य !!!
जगदीश लववंशी
तेरे दिल में कोई साजिश तो नहीं
Krishan Singh
*हिम्मत मत हारो ( गीत )*
Ravi Prakash
Loading...