Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Sep 23, 2018 · 1 min read

** तेरा बेमिसाल हुस्न **

जब तेरे कदम इतने सुंदर तो तेरा चेहरा कितना खूबसूरत होगा ?
जब तेरे नैन इतने मतवाले तो तेरा दिल कितना खूबसूरत होगा ?

तेरे “ बेमिसाल हुस्न के भंवर ” में डूबकर हम किस “ जहाँ ” आ गए,
जहाँ से अब न लौट सकूं , उस नाव पर बैठकर हम किस जहाँ आ गए,
तेरे नैनों में “प्यार के फूलों की नगरी” है बसती , उस जहाँ पर आ गए ,
भटके लोगों को जिंदगी का रास्ता दिखाने वाले तेरी धरा पर हम आ गए I

जब तेरे कदम इतने सुंदर तो तेरा चेहरा कितना खूबसूरत होगा ?
जब तेरे नैन इतने मतवाले तो तेरा दिल कितना खूबसूरत होगा ?

जब तुम दिल में रहते हो तो तुम्हारे रहने का मैं क्यों इंतजाम करूँ ?
दिलों में रहते हो फिर क्यों “ मकान ” बनाने का मैं इंतजाम करूँ ?
अम्बर है तेरा शामियाना तो फिर तेरे लिए क्यों घर की तलाश करूँ?
जो बुझाता है “प्यास” सबकी उसके लिए जल की तलाश क्यों करूँ ?

जब तेरे कदम इतने सुंदर तो तेरा चेहरा कितना खूबसूरत होगा ?
जब तेरे नैन इतने मतवाले तो तेरा दिल कितना खूबसूरत होगा ?

“राज” उठाने-गिराने में तूने अनमोल जीवन को गवां दिया ,
“नफरत की आग” लगाते-2 अपने “घर”को भी जला लिया,
तेरे नाम की माला ने मुझे जीने का एक रास्ता दिखा दिया,
तेरी एक नज़र ने मुझे “जिंदगी के मालिक” से मिला दिया I

जब तेरे कदम इतने सुंदर तो तेरा चेहरा कितना खूबसूरत होगा ?
जब तेरे नैन इतने मतवाले तो तेरा दिल कितना खूबसूरत होगा ?

***********

देशराज “राज”

1 Like · 267 Views
You may also like:
व्यास पूर्णिमा
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
उड़ी पतंग
Buddha Prakash
युवकों का निर्माण चाहिए
Pt. Brajesh Kumar Nayak
खा लो पी लो सब यहीं रह जायेगा।
सत्य कुमार प्रेमी
मन को मोह लेते हैं।
Taj Mohammad
जिंदगी का आखिरी सफर
ओनिका सेतिया 'अनु '
अंतरराष्ट्रीय योग दिवस
Ram Krishan Rastogi
"पिता का जीवन"
पंकज कुमार "कर्ण"
जाने क्या-क्या ? / (गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
धार्मिक उन्माद
Rakesh Pathak Kathara
पढ़ी लिखी लड़की
Swami Ganganiya
मैं पिता हूं।
Taj Mohammad
कैसा हो सरपंच हमारा / (समसामयिक गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
कोई ना अपना रहनुमां है।
Taj Mohammad
भारत
Vijaykumar Gundal
पितृ स्तुति
दुष्यन्त 'बाबा'
✍️सरहदों के गहरे ज़ख्म✍️
'अशांत' शेखर
फास्ट फूड
AMRESH KUMAR VERMA
धन्य है पिता
Anil Kumar
देह मिलन
Kavita Chouhan
✍️इरादे हो तूफाँ के✍️
'अशांत' शेखर
पुन: विभूषित हो धरती माँ ।
Saraswati Bajpai
नोटबंदी ने खुश कर दिया
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
धरती की अंगड़ाई
श्री रमण 'श्रीपद्'
बोलती आँखे...
मनोज कर्ण
है पर्याप्त पिता का होना
अश्विनी कुमार
मौसम मौसम बदल गया
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
खुशियों का मोल
Dr fauzia Naseem shad
उम्मीद का दामन।
Taj Mohammad
खींच मत अपनी ओर.....
डॉ.सीमा अग्रवाल
Loading...