Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings

तू तो कठपुतली है उसका………

लाख कर ले चालाकी, तू उससे बच न पायेगा।
समझा नहीं है रब को, तू उससे क्या छिपायेगा।
हजारो मिल गए ख़ाक में, जो खुद को शेर समझते थे।
तू तो कठपुतली है उसका तू क्या नाच दिखायेगा।।

चाहे अर्जी दे या न दे, कुछ बोल या खामोश रह।
बता य ना बता, छिपा सके तू जितना छिपा।
रब से बच न पायेगा, वो तुझको धता बताएगा।
एक इशारे पर उसके, तेरा सारा सच सामने आ जायेगा।।

तू तो कठपुतली है उसका…….

मैं मैं के मदहोश, में रात दिन तू डूबता है।
दुसरो की बुराइयो से, पुरे ज़माने को सींचता है।
तेरा वजूद क्या है? ये तो रब ही बताएगा।
डाल ले बुराइयो में पर्दा उससे बच न पायेगा।।

तू तो कठपुतली है उसका…….

है तेरा अस्तित्व क्या, हे तो रब ही जानता।
सच्चाई के अलावा,वो और कुछ न मांगता।
जिंदगी गुजार दी तूने, अफवाहों के बाजार गर्म करने में।
अब तो हिसाब का समय है तू क्या मुह दिखायेगा।।

तू तो कठपुतली है उसका………

234 Views
You may also like:
छीन लिए है जब हक़ सारे तुमने
Ram Krishan Rastogi
मुझे आज भी तुमसे प्यार है
Ram Krishan Rastogi
माँ की भोर / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
पितृ वंदना
मनोज कर्ण
हम भटकते है उन रास्तों पर जिनकी मंज़िल हमारी नही,
Vaishnavi Gupta
आपकी तारीफ
Dr fauzia Naseem shad
दर्द ख़ामोशियां
Dr fauzia Naseem shad
गोरे मुखड़े पर काला चश्मा
श्री रमण 'श्रीपद्'
पिता का दर्द
Nitu Sah
मजबूर ! मजदूर
शेख़ जाफ़र खान
✍️कोई तो वजह दो ✍️
Vaishnavi Gupta
Life through the window during lockdown
ASHISH KUMAR SINGH
गीत
शेख़ जाफ़र खान
बिछड़ कर किसने
Dr fauzia Naseem shad
मुँह इंदियारे जागे दद्दा / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
पिता क्या है?
Varsha Chaurasiya
मेरी भोली ''माँ''
पाण्डेय चिदानन्द
बदल जायेगा
शेख़ जाफ़र खान
झरने और कवि का वार्तालाप
Ram Krishan Rastogi
पितृ वंदना
संजीव शुक्ल 'सचिन'
ओ मेरे साथी ! देखो
Anamika Singh
पितृ स्वरूपा,हे विधाता..!
मनोज कर्ण
माँ की परिभाषा मैं दूँ कैसे?
साहित्य लेखन- एहसास और जज़्बात
दो जून की रोटी
Ram Krishan Rastogi
मेरा गांव
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
मेरी लेखनी
Anamika Singh
आजादी अभी नहीं पूरी / (समकालीन गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
सोच तेरी हो
Dr fauzia Naseem shad
भोर का नवगीत / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
माँ
आकाश महेशपुरी
Loading...